रोजा इफ्तार पार्टी: शत्रुघ्न से पूछा RJD से लेंगे टिकट? इस पर तेजप्रताप के जवाब ने मचाया हडकंप

रोजा इफ्तार पार्टी

पटना। बिहार पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने रमजान के मौके पर अपने आवास पर रोजा इफ्तार पार्टी का आयोजन किया। जिसमें बॉलीवुड के अभिनेता व बीजेपी के दिग्गज नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने भी शिरकत की हालाँकि इस इफ्तार पार्टी में सत्ता पक्ष व विपक्ष के तमाम नेताओं को न्योता दिया गया था। जिसमें सीएम नीतीश कुमार का नाम भी शामिल था, लेकिन नीतीश शामिल नहीं हुए। वहीं शत्रुघ्न सिन्हा की मौजूदगी ने किसी की कमी खलने नहीं नहीं दी।

पढ़ें:- तेजस्वी-तेजप्रताप विवाद के बाद लालू परिवार पर आया यह संकट 

रोजा इफ्तार पार्टी में शामिल हुए शत्रुघ्न सिन्हा

वहीं विपक्षी नेताओं में केवल शत्रुघ्न सिन्हा के पहुंचने को लेकर सियासी सुगबुगाहट रही। इस मामले में बीजेपी सांसद ने कहा कि उन्हें लालू परिवार की तरफ से इफ्तार पार्टी में आने का न्योता मिला था। इसलिए वह शामिल हुए’ हांलाकि आज ही बीजेपी की सहयोगी पार्टी जदयू की इफ्तार पार्टी भी थी। लेकिन शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि न्योता उन्हें राजद से ही मिला।

rosa-iftar-party-asked-shatrughna-tickets-from-rjd 24ghanteonline.com

पढ़ें:- लालू के जन्मदिन पर साथ दिखे तेजस्वी व तेजप्रताप, मनमुटाव की ख़बरों को किया ख़ारिज 

क्या राजद के टिकट पर शत्रुघ्न सिन्हा लड़ेंगे चुनाव?

इफ्तार पार्टी के दौरान शत्रुघ्न सिन्हा मीडिया के सवालों से बच नहीं सके। सिन्हा ने सफाई देते हुए कहा कि उनके यहां आने को राजनीति से जोड़ कर नहीं देखा जाना चाहिए। इसका राजनीति से कोई संबंध नहीं है। यह आपसी भाईचारे का मौका है और मैं रिश्ता निभाने आया हूं क्योंकि लालू परिवार से मेरा पुराना संबंध रहा है। इस दौरान जब उनसे पूछा गया कि क्या वो आरजेडी से चुनाव लड़ेंगे तो बगल में बैठे तेजप्रताप ने कहा क्यों नहीं? इस पर शत्रुध्न सिन्हा ने भी कहा, ‘तेजप्रताप के मुंह में घी शक्कर।

शत्रुघ्न सिन्हा के तेजप्रताप के बयान पर ऐसी प्रतिक्रिया देने पर ये बात तो साफ़ हो जाती है कि आने वाले समय में वह बीजेपी का दामन छोड़ सकते हैं। वहीं काफी समय से सिन्हा अपनी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं और अपने ही नेताओं के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं।

loading...
Loading...

You may also like

चप्पल गोदाम में लगी भीषण आग, एक घंटे मे पाया आग पर काबू

लखनऊ। घनी बस्ती के बीच बने चप्पल गोदाम