RRB Group D परीक्षा में पकड़े गए फर्जी परीक्षार्थी, 7 गिरफ्तार

- in क्राइम, ख़ास खबर, शिक्षा
RRB ग्रुप D

नई दिल्ली। RRB Group D परीक्षा में मंगलवार को चितईपुर स्थित एक परीक्षा केन्द्र से सात फर्जी परीक्षार्थी पकड़े गए है। वे दूसरी जगह परीक्षा दे रहे थे। पकड़े गए परीक्षार्थी में कोलकाता में तैनात एक एक्साइज इंस्पेक्टर भी है। मंडुवाडीह पुलिस ने सातों को गिरफ्तार करके बुधवार को जेल भेज में भेज दिया है।

ये भी पढे : संतकबीरनगर के रोहित को मिला राज्यपाल के हाथों स्वर्ण पदक – 

एसओ मंडुवाडीह संजय त्रिपाठी ने बताया कि चितइपुर स्थित सिद्धेश्वर शिव इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्निकल एजुकेशन में रेलवे ग्रुप डी की ऑनलाइन परीक्षा हो रही है। मंगलवार को संस्था के नवनीत सिंह कौशिक ने सूचना दी थी कि दूसरे जगह पर परीक्षा देने वाले सात लोग चिह्नित किए गए हैं। पुलिस ने सातों को गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने दूसरे की जगह पर परीक्षा देने की बात स्वीकार कर ली है।

पकड़े गए सभी आरोपी बिहार के हैं। इनमें औरंगाबाद जिले के चापरा गांव निवासी संयोग कुमार, नेवादा जिले के थालीखुर्द निवासी निरंजन कुमार यादव, अमरकान्त यादव, पटना के चिंतामान चक वार्ड के राजेश कुमार, नालंदा के रहुई निवासी पप्पू कुमार और रितिक राज, पटना के कसरीगंज निवासी रोहित हैं।

एसओ ने बताया कि नालंदा के रहुई निवासी पप्पू कुमार ने खुद को कोलकाता में तैनात एक्साइज इंस्पेक्टर बताया है। अभी इसकी पुष्टि की जा रही है। इन लोगों के खिलाफ परीक्षा अधिनियम, धोखाधड़ी संग कई धाराओं में केस दर्ज कर जेल भेज दिया गया है।

परीक्षा देने के लिए लेते हैं 25 हजार रुपये

पूछताछ में फर्जी परीक्षार्थियों ने बताया कि उन्हें दूसरे अभ्यर्थी की जगह परीक्षा देने के 20 से 25 हजार रुपये दिये जाते है। केन्द्र के अन्दर बैठाने की भी जिम्मेदारी गिरोह के सरगना की होती है। वहीं उसने बताया की नौकरी दिलवाने के लिए डेढ़ लाख रुपये तक वसूला जाता है।

ये भी पढे : बस्ती की क्षमा एव प्रवीण ने राज्यपाल से गोल्डमेडल पाकर हुई गौरान्वित 

गिरोह के बारे में मिली है जानकारी

पकड़े गए आरोपितों से पूछताछ में STF ने भर्ती परीक्षा में फर्जीवाड़ा करने वाले गिरोह और उसके सरगना की जानकारी हासिल की है। जानकारी के आधार पर बिहार समेत अन्य जगहों पर भी दबिश की तैयारी चल रही है।

पहले भी पकड़े जा चुके हैं कई अभ्यर्थी

आपको बता दें की रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा (कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट – CBT) के 63 हजार पदों के लिए करीब 1.90 करोड़ अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। यह ऑनलाइन परीक्षा 17 सितम्बर से लेकर 14 दिसम्बर तक चलेगी। वहीं परीक्षा शुरू होने के बाद से कई फर्जी परीक्षार्थी पकड़े जा चुके हैं, जिन्हें जेल भेजा जा चुका है।

loading...
Loading...

You may also like

सिपेट कॉलेज पर कृष्ण के पिता ने लगाया लापरवाही का आरोप, छात्रों ने मचाया हँगामा

लखनऊ। सरोजनीनगर के नादरगंज स्थित सिपेट कॉलेज में