सबरीमाला मंदिर : पूजा-आरती के बाद खुले गर्भगृह के कपाट, देखें विडियो

सबरीमाला मंदिर
Loading...

केरल के सबरीमाला मंदिर के गर्भगृह के कपाट पूजा-आरती के बाद खुल गए हैं। सबरीमला में मौजूद भगवान अयप्पा मंदिर  शनिवार शाम को दो महीने के तीर्थयात्रा सीजन के लिए खुल गया है। पथानमथिट्टा जिले में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मंडल पूजा के लिए मंदिर के कपाट खोले गए। केरल की माकपा की अगुवाई वाली एलडीएफ सरकार  ने सभी श्रद्धालुओं के लिए निर्बाध तीर्थ यात्रा को सुनिश्चित कराने को लेकर व्‍यापक इंतजाम किए हैं।

सुप्रीम कोर्ट से पारित कराएं आदेश

केरल देवस्वोम बोर्ड   के मंत्री के. सुरेंद्रन ने कहा था कि राज्य सरकार मंदिर की ओर जाने वाली किसी भी महिला को सुरक्षा मुहैया नहीं कराएगी, जिन महिलाओं को सुरक्षा की जरूरत है उनको सुप्रीम कोर्ट  से आदेश पारित कराना चाहिए। दूसरी ओर पथानमथिट्टा जिले के कलेक्टर पीबी नोह ने कहा कि तीर्थयात्रियों के लिए सभी बुनियादी सुविधाएं जैसे शौचालय, पानी के खोखे  और चिकित्सा आपातकालीन केंद्र  मुहैया कराई गई हैं।

महज 18 पवित्र सीढ़ियों पर चढ़ने की इजाजत

समाचार एजेंसी के मुताबिक, कंदरारू महेश मोहनारारू मंदिर के गर्भगृह को खोलेंगे और वहां पूजा पाठ करेंगे जिसके साथ ही यात्रा की शुरुआत हो जाएगी। यही नहीं इस दौरान एके सुधीर नंबूदिरीसबरीमाला मेलशांति और एमएस परमेश्‍वरन नंबुदिरी मलिकापुरम  मेलशांति के रूप में कार्यभार संभालेंगे। मंदिर में पादि पूजा कार्यक्रम संपन्‍न होने के बाद तीर्थयात्रियों को महज 18 पवित्र सीढ़ियों पर चढ़ने और भगवान के दर्शन करने की इजाजत होगी।

शाम पांच बजे खुले कपाट

रिपोर्ट में कहा है कि पथनमथिट्टा जिले  के पश्चिमी घाट में आरक्षित वन क्षेत्र में मौजूद पहाड़ी मंदिर के कपाट शाम लगभग पांच बजे खुल गए, जिसके साथ ही दो महीने तक चलने वाला मंडलम मकरविलक्कू सीजन शुरू हो गया। केरल के साथ साथ पड़ोसी राज्यों से श्रद्घालुओं ने निलक्कल और पंबा में पहुंचना शुरू कर दिया है। लेकिन सुरक्षा वजहों को ध्‍यान में रखते हुए उनको दोपहर दो बजे तक ही मंदिर के लिए रवाना किया जाएगा।

Loading...
loading...

You may also like

भारतीय रिजर्व बैंक ने मौद्रिक नीति समीक्षा में नीतिगत दरों में कोई बदलाव नहीं

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व