शाहजहांपुर: भाजपा विधायक और उनके बेटे पर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप

शाहजहांपुरशाहजहांपुर

शाहजहांपुर। भाजपा नेताओं पर हत्या, बलात्कार जैसे शर्मनाक आरोप थमने एक के बाद एक सामने आते जा आरहे हैं। उन्नाव रेप केस के बाद अब यूपी के शाहजहांपुर में भाजपा विधायक रोशनलाल वर्मा और उनके बेटे पर सामूहिक दुष्कर्म करने का आरोप लगा है। आरोप लगाने वाली पीड़िता परिजन के साथ धरने पर बैठ गई है। युवती का आरोप है बीजेपी विधायक और उनके लड़के मनोज ने उसका अपहरण कर दुष्कर्म किया है। इस घटना के खिलाफ युवती ने शिकायत दर्ज करवाया था। बरेली की CBCID टीम मामले की जांच कर रही है। इस घटना को लेकर कई लोग बयान भी दे चुके हैं, लेकिन विधायक के दबाव के चलते किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जा रही है।

शाहजहांपुर बीजेपी विधायक और उनके बेटे पर रेप के आरोप

शाहजहांपुर से बीजेपी विधायक रोशनलाल वर्मा और उनका बेटा मनोज पर एक युवती ने दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। पीडिता ने बताया कि आरोपी विधायक ने उसके परिवार को जान से मारने और झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी है। सोमवार को पीड़िता कलेक्ट्रेट ऑफिस में भूख हड़ताल पर बैठ गई है। दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए पीड़िता ने आत्मदाह करने की चेतावनी दी है। उसने कहा कि यदि विधायक और उनके बेटे को गिरफ्तार नहीं किया गया तो वो जान दे देगी। विधायक रोशनलाल का कहना है कि उनपर लगाए सभी आरोप बेबुनियाद हैं। यह यह सब सपा के इशारे पर हो रहा है।

ये भी पढ़ें: मौसम ने फिर बदला मिजाज, दिल्ली-हरियाणा में तेज आंधी-तूफ़ान तो उत्तरखंड में हुई बर्फ़बारी 

रोशनलाल वर्मा और उनका बेटा मनोज
रोशनलाल वर्मा और उनका बेटा मनोज

5 साल से लगा रही इन्साफ की गुहार

शाहजहांपुर में विधायक पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता पिछले पांच सालों से इंसाफ के लिए करीब हर जगह गुहार लगा चुकी है। लेकिन अब तक उसे इंसाफ नहीं मिला है। पीड़िता ने आरोप लगाया है कि राजनीतिक दबाव के चलते विधायक और उसके बेटे की गिरफ्तारी नहीं की गई है। पीड़िता के मुताबिक, साल 2011 में रोशन लाल वर्मा के बेटे मनोज वर्मा ने उसके साथ बलात्कार किया और कई दिनों तक बंधक बनाकर रखा था। इन्साफ की आस में पीड़िता परिजनों के साथ धरने पर बैठ गयी है। धरने की जानकारी के बाद अधिकारी मौके पर पहुंचीं। कुछ घंटे बाद अधिकारियों ने जल्द कार्रवाई का भरोसा दिलाकर धरना खत्म करा दिया। पीड़िता ने अधिकारियों को आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने पर 11 मई को कलेक्ट्रेट में आत्मदाह करने की चेतावनी भी दी है।

loading...

You may also like

68,500 सहायक शिक्षकों की भर्ती में लापरवाही, हाईकोर्ट ने योगी सरकार को लगाई फटकार

लखनऊ। इलाहबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने मुख्यमंत्री