वसुंधरा राजे को मोटी कहे जाने वाले बयान पर शरद यादव का पछतावा, मांगी माफ़ी…


राजस्थान।  राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर भारी वजन को लेकर की गई अपमानित टिप्पणी पर आलोचनाओं से घिरे शरद यादव ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि मैंने उनका बयान देखा। मेरे और वसुंधरा राजे के परिवार के बीच काफी पुराने व गहरे रिश्ते हैं। अगर मेरे शब्दों से वो आहत हुई हैं, तो मैं अपने शब्दों को लेकर पछतावा जाहिर करता हूं। इस पछतावे को लेकर मैं उनको खत भी लिखूंगा।

दरअसल, राजस्थान में एक चुनावी सभा के दौरान पूर्व JDU नेता शरद यादव ने अभद्र टिप्पणी करते हुए कहा था कि अब सीएम वसुंधरा राजे को आराम करने के लिए भेज दिया जाए क्योंकि अब वह काम करने के योग्य नहीं रह गई हैं। वो मोटी हो गई हैं। हालांकि उनका ये बयान आग की तरह फैलने लगा और बाद में जब हंगामा मचा तो यादव ने सफाई दी और कहा कि उनका किसी का अपमान करने का कोई इरादा नहीं था।

शरद यादव द्वारा वसुंधरा को ‘मोटी’ कहे जाने वाले बयान पर सीएम का पलटवार 

इम बयान के बाद राजे ने शुक्रवार को महिलाओं के लिए बने पिंक बूथ पर वोट डालने के बाद पत्रकारों से कहा था कि चुनाव आयोग को शरद यादव पर कार्रवाई करनी चाहिए। राजे ने आगे कहा कि मैं आश्चर्यचकित हूं, मैं अपमान महसूस कर रही हूं। शरद को अपनी भाषा पर संयम रखना चाहिए, उन्होंने मेरा नहीं सभी महिलाओं का अपमान किया है।

वसुंधरा राजे का शरद यादव पर पलटवार, कहा चुनाव आयोग करे कार्रवाई 

कांग्रेस पर हमला करते हुए वसुंधरा राजे ने कहा, “क्या वो यही उदाहरण युवाओं के लिए सेट करना चाहते हैं? कांग्रेस और उसके सहयोगियों को अपनी भाषा में पाबंदी लगानी चाहिए।” शुक्रवार को अलवर में यादव की अपमानजनक टिप्पणियों के बाद राजस्थान में बीजेपी ने चुनाव आयोग से शिकायत की थी।

loading...
Loading...

You may also like

विधानसभा नतीजे: तेलंगाना में कांग्रेस ने EVM से छेड़छाड़ की जताई आशंका

हैदराबाद। तेलंगाना में सत्तारूढ़तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) राज्य