इस नवरात्र में करें इस महामंत्र का जाप, बनेगे सालों पुराने बिगड़े काम

- in धर्म
नवार्ण महामंत्र

नई दिल्ली। शारदीय नवरात्र प्रारंभ हो चुके हैं। इस बार की नवरात्र को काफी शुभ माना गया है, क्योंकि इस वर्ष मां दुर्गा नाव पर सवार होकर आ रही हैं और ऐसा भी कहा गया है कि इस नवरात्र में मंत्रों का सिद्ध करने का सुनहरा अवसर है।एस्ट्रोलॉजर सरिता गुप्ता के मुताबिक नवार्ण मंत्र मां दुर्गा का सबसे शक्तिशाली मंत्र है, जिसका जाप करने से हर बिगड़ा हुआ काम आसानी से बन जाएगा और आपको सफलता मिलेगी। ये भी पढ़ें:- नवरात्रि के तीसरे दिन ऐसे करे मां कूष्मांडा की उपासना 

इन नवार्ण मन्त्रों में नौ ग्रहों को नियंत्रित करने और मां दुर्गा के तीनों रूपों की एक साथ साधना का प्रभाव समाहित है। इसलिए इसे अधिक शक्तिशाली महामंत्र कहा गया है। इस मंत्र का जाप करने से मां भगवती का पूर्ण आशीर्वाद प्राप्त होता है। इतना ही नहीं बल्कि नवार्ण मंत्र का रोजाना पूजा के दौरान जाप करने से विशेष फल प्राप्त होता है।ये भी पढ़ें:- नवरात्रि ने भूल कर भी ना करे ये चूक, रह सकते है मां के आशीर्वाद से वंचित 

इस बार के नवरात्र का विशेष महत्व है, जिसमें माता की पूर्ण भक्ति भाव से पूजा-अर्चना करने से हर संकट-बाधा दूर हो जाएगी। आइए आपको बताते हैं कि नवार्ण मंत्र क्या है।

नवार्ण मंत्र- ॐ ह्रीं क्लीं चामुंडायै विच्चे:

नवार्ण मंत्र का जाप 108 दाने की माला पर कम से कम तीन बार अवश्य करना चाहिए। हालांकि,  नवार्ण मंत्र नौ अक्षरों का ही है, परंतु विजयादशमी की महत्ता को ध्यान में रखते हुए, इस मंत्र के पहले ॐ अक्षर जोड़कर इसे दशाक्षर मंत्र का रूप दुर्गा सप्तशती में दे दिया गया है, लेकिन इस एक अक्षर के जुड़ने से मंत्र के प्रभाव पर कोई असर नहीं पड़ता। वह नवार्ण मंत्र की तरह ही फलदायक होता है। अतः कोई चाहे, तो दशाक्षर मंत्र का जाप भी निष्ठा और श्रद्धा से कर सकता है।

loading...
Loading...

You may also like

देवी लक्ष्मी के बताए इन 3 उपायों से मिलता है अपार धन

सुख, ऐश्वर्य और धन की देवी लक्ष्मी को धन शक्ति