शशि थरूर ने कहा- 2019 में भाजपा जीती तो देश बन जाएगा हिंदू पाकिस्तान

शशि थरूर

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने भाजपा को लेकर एक ऐसा बयान दिया है। जिससे विवाद खड़ा होता हुआ नजर आ रहा है। दरअसल शशि थरूर ने तिरुवनंतपुरम में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि अगर 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा जीतती है तो देश में धार्मिक कट्टरता बढ़ेगी और भारत में पाकिस्तान जैसे हालात पैदा हो जाएंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि भाजपा संविधान को तहस नहस कर देगी और एक ऐसे संविधान का निर्माण करेगी जो सिर्फ हिंदू हितों की रक्षा करेगा। कांग्रेस नेता के इस बयान से विवाद खड़ा होता हुआ दिखाई पड़ रहा है।

पढ़ें:- अमित शाह पहुंचे रांची, मिशन-2019 पर शुरू हुआ मंथन

शशि थरूर का पूरा बयान

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर तिरुवनंतपुरम में एक सभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि अगर भाजपा एक बार फिर लोकसभा चुनाव जीतते हैं तो हमारा लोकतांत्रिक संविधान खत्म हो जाएगा क्योंकि उनके पास भारतीय संविधान की धज्जियां उड़ाने और एक नया संविधान लिखने वाले सारे तत्व हैं।

थरूर बस यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे बोलते हुए कहा कि उनका लिखा नया संविधान हिंदू राष्ट्र के सिद्धांतों पर आधारित होगा जो अल्पसंख्यकों के समानता के अधिकार को खत्म कर देगा और देश को हिंदू पाकिस्तान बना देगा। उन्होंने कहा कि यह वो भारत नहीं होगा जिसके लिए महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, मौलाना अबुल कलाम आज़ाद और बाकी स्वतंत्रता सेनानियों ने संघर्ष किया था।

पढ़ें:- मलोट में पीएम मोदी बोले- न्यूनतम समर्थन मूल्य ने उड़ाई कांग्रेस की नींद

भाजपा ने जताया कड़ा ऐतराज

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर के बयान पर भाजपा की तरफ कड़ी प्रतिक्रिया देखने को मिली है। भाजपा की तरफ से कहा गया है कि थरूर के इस बयान के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी माफी मांगे। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि ‘शशि थरूर ने जो कुछ भी कहा है। उसके लिए राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के निर्माण के लिए कांग्रेस जिम्मेदार थी और एक बार फिर वह भारत को नीचा दिखाने और देश के हिंदुओं को बदनाम करने का काम कर रही है।

loading...

You may also like

पीएम को चोर करने पर भड़के सीएम योगी, कहा- राहुल और कांग्रेस देश से मांगे माफ़ी

गोरखपुर। राफेल डील को लेकर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति