शिवपाल को बड़ा झटका, प्रदेश अध्यक्ष पद के बाद अब गया एक और बड़ा पद

- in ख़ास खबर, राजनीति, लखनऊ
शिवपालशिवपाल

लखनऊ। यूपी के जसवंतनगर से विधायक और पूर्व सीएम अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। पहले ही प्रदेश अध्यक्ष का पद छीने जाने के बाद उनकी पार्टी में उनको कोई नहीं पूछता अब उनसे एक और अहम पद से छुट्टी होने वाली है। दरअसल योगी सरकार उन्हें प्रदेश सहकारिता की सबसे बड़ी संस्था यूपी को-ऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन के पद से शिवपाल सिंह यादव को हटाने जा रही है। उनकी जगह अब मथुरा के पूर्व सांसद तेजवीर सिंह के नाम पर भाजपा नेतृत्व ने मुहर लगा दी है।

शिवपाल सिंह यादव की जगह तेजवीर सिंह होंगे चेयरमैन

जानकारी के मुताबिक यूपी सरकार प्रदेश सहकारिता की सबसे बड़ी संस्था यूपी को-ऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन के पद पर आसीन व्यक्ति के नाम में भी बदलाव करने जा है। तेजवीर सिंह 10 अगस्त को होने वाले इस पद के लिए होने वाले चुनाव में इकलौते प्रत्याशी हैं। उनके अलावा किसी प्रत्याशी ने नामांकन नहीं किया है। इस पद पर भाजपा नेता तेजवीर सिंह का चुना जाना लगभग तय है। इसके साथ ही शिवपाल सिंह यादव की इस पद से छुट्टी हो जाएगी।

पढ़ें:- उपसभापति के चुनाव में नीतीश कुमार से जानबूझकर हारे राहुल गांधी! 

बता दें कि को-ऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन पद प्रदेश की सहकारिता के मुखिया का माना जाता है। वर्तमान में यूपी को ऑपरेटिव की चुनाव प्रक्रिया अंतिम दौर में चल रही है। सभी जिलों की सहकारी बैंकों व सहकारी संघ के चुनाव हो चुके हैं। जिलों से भेजे गए डेलीगेट्स के जरिए प्रदेश की सहकारिता के मुखिया का चुनाव होगा। मुखिया का ये चुनाव छह वर्ष के लिए होगा।

गौरतलब है कि अब तक सपा नेता शिवपाल सिंह यादव व उनके बेटे के कब्जे में ही प्रदेश सहकारी फैडरेशन व सहकारी बैंक थीं लेकिन यूपी की सत्ता में भाजपा के आने के बाद अब परिस्थितियां कुछ और हैं। तेजवीर सिंह भाजपा के वरिष्ठ नेता और मथुरा के जिलाध्यक्ष भी हैं। वे तीन बार सांसद रहने के साथ ही पहले भी कोआपरेटिव बैंक के चेयरमैन रह चुके हैं।

loading...
Loading...

You may also like

राफेल मामला: सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद राजनाथ ने बोली ये बात

नई दिल्ली। संसद के शीतकालीन सत्र की शुरूआत