खुद को गोली से उड़ा लूंगा, पुलिस के हांथ नहीं आऊंगा: शिवम्

लखनऊ। चाहे खुद को गोली से उड़ाना पड़े, लेकिन पुलिस के हांथ मैं नहीं आऊंगा। यह शब्द शिवम् चीना से कहे थे। इसका खुलासा चीना ने खुद पुलिस के सामने किया है। चीना को गुरूवार को कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। ठाकुरगंज में दोहरे हत्याकाण्ड़ के मु यारोपित चीना की बुधवार रात्रि गिरफ्तारी के बाद पुलिस अब मल्लाही टोला ठाकुरगंज निवासी वीरेन्द्र कश्यप की तलाश में जुटी है, जबकि वीरेन्द्र को शरण देने वाले भानू को पुलिस ने गिर तार कर लिया है।

सूत्रों की मानें तो चीना ने बताया कि सगे भाईयों की हत्या में उसका एक अन्य साथी वीरेन्द्र कश्यप भी शामिल था। चीना के इकबालिया बयान के तहत पुलिस ने वीरेन्द्र को भी नामजद कर लिया है। गुरूवार को पुलिस वीरेन्द्र की तलाश में उसके मिलने के तमाम ठिकानों पर दबिश की कार्रवाई करती रही, लेकिन वीरेन्द्र पूर्व से भाग चुका था। उधर पूछताछ में सामने आया कि वीरेन्द्र को स्थानीय निवासी भानू ने शरण दी थी।

पुलिस ने भानू को गिरफ्तार कर लिया है। थाना प्रभारी ठाकुरगंज ने बताया कि भानू से पूछताछ की जा रही है। इसके अलावा सर्विलांस और अन्य तंत्रों के माध्यम से वीरेन्द्र की तलाश की जा रही है। बताते चले 3अक्टूबर की रात सगे भाइयों को घेरकर शिवम, चीना, साहिल व वीरेन्द्र ने पुरानी रंजिश के चलते मौत के घाट उतार दिया था। जिसके बाद साहिल को पुलिस ने दबोचा था जबकि तीनों फरार चल रहे थे। बुधवार रात पुलिस ने उनकी तलाश में विरामखण्ड-5 स्थित मकान में दबिश दी। जहां आहट पाकर चीना ने दरवाजा खोला तो पुलिस उसके सामने थी। इसकी भनक मिलते ही घर के अंदर रहे शिवम ने तमंचे से खुद को उड़ा दिया। गुरूवार उसका पीएम किया गया। करीब एक घंटे तक चले पोस्टमार्टम के दौरान वीडियोग्राफी करायी गयी। साथ ही वहां फोरेसिंक टीम भी मौजूद थी, जबकि मर्चरी के बाहर भारी फोर्स था। उधर पीएम रिपोर्ट से पता चला कि शिवम ने दांयी कनपटी से सटाकर गोली चलायी थी। जो बांयी तरफ से पार हो गयी।

आत्महत्या नहीं कर सकता शिवम्, पुलिस ने की हत्या

गुरूवार को शिवम् के शव का पोस्टमार्टम भारी सुरक्षा के बीच कराया गया था। पोस्टमार्टम हाउस परिसर से लेकर बाहर तक भारी पुलिस बल मौजूद था। पोस्टमार्टम हाउस में शिवम् के भाई पवन, राजा, सनी और बहन नन्दनी व रेनू पहुंची थी। बहन नन्दनी ने कहा कि उसका भाई शिवम् कुछ भी हो आत्महत्या नहीं कर सकता है। पुलिस ने शिवम् की घेर कर हत्या की है। जिस तरह चीना को पुलिस ने पकड़ा था, उसी तरह शिवम् को भी गिरफ्तार किया जा सकता था। नन्दनी ने शिवम् की मौत पर जांच की मांग की हैं। वहीं भाई पवन ने भी पुलिस पर प्रताडऩा का आरोप लगाया है। पवन का कहना है कि शिवम् को वर्ष 2017 में जायदाद से बेदखल कर दिया गया था, उसके कृत से परिवार वालों का कोई लेना-देना नहीं था। इसके बावजूद भी पुलिस ने पूरे परिवार को प्रताडि़त किया है। उन्होंने कहा कि शिवम् की गिर तारी को लेकर आये दिन पुलिस उनके घर पहुंचती थी।

पढे:- लखनऊ डबल मर्डर: मुख्य आरोपी ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या

भारी सुरक्षा के बीच हुआ अंतिम संस्कार

गुरूवार को दोपहर बाद करीब 3 बजे पोस्टमार्टम होने के बाद शिवम् के शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया था। परिजन अंतिम संस्कार के लिए शव घर ले जाने के बाद गुलाला घाट ले गए थे। इस दौरान भारी पुलिस बल भी शिवम् के परिजनों के साथ लगा रहा। घर से लेकर गुलाला घाट तक कई थानों की पुलिस और तमाम पुलिस अधिकारी मौजूद रहे। शव के अंतिम संस्कार के दौरान गुलाला घाट छावनी में तब्दील हो गया था। हालांकि इलाके में शांति व्यवस्था और शिवम् के परिजनों की सुरक्षा को लेकर पुलिस बल तैनात किया गया है।

loading...
Loading...

You may also like

रेप से बचने के लिए निर्वस्त्र अवस्था में चार मंजिला से खुदी युवती, भाई चला रहा था सेक्स रैकेट

जयपुर। मुहाना थाना इलाके में शुक्रवार की रात