यूपी के गुप्ता ब्रदर्स ले डूबे दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति की कुर्सी

दक्षिण अफ्रीका
Please Share This News To Other Peoples....

जोहानिसबर्ग। दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा ने बुधवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। जुमा के राजनीतिक करियर पर ग्रहण लगाने में यूपी की गुप्ता ब्रदर्स का बड़ा हाथ है। जैकब जुमा के इस्तीफे के ऐलान से पहले बुधवार को गुप्ता ब्रदर्स के ठिकानों पर पुलिस और भ्रष्टाचार विरोधी एजेंसियों के छापे भी मारा है। परिवार के एक सदस्य को गिरफ्तार भी किया गया है।

गुप्ता ब्रदर्स की रही है तमाम कथित घोटालों में केंद्रीय भूमिका

तीन दशक पहले भारत से दक्षिण अफ्रीका गए गुप्ता ब्रदर्स की जैकब जुमा के कार्यकाल के दौरान तमाम कथित घोटालों में केंद्रीय भूमिका गुप्ता ब्रदर्स की रही है।  बतातें चलें यूपी के सहारनपुर से ताल्लुक रखने वाले अजय, अतुल और राजेश गुप्ता ने कम समय में दक्षिण अफ्रीका में बड़ा साम्राज्य खड़ा कर लिया।

कंप्यूटर, खनन, मीडिया, टेक्नॉलाजी और इंजिनियरिंग के क्षेत्र में की तेजी से तरक्की

अतुल गुप्ता की अगुआई में यह परिवार  1993 में दक्षिण अफ्रीका आया था। उसके सालभर बाद ही नेल्सन मंडेला ने लोकतांत्रिक चुनावों में जीत हासिल की थी। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका ने अपने दरवाजे विदेशी निवेश के लिए खोले थे। भारत के छोटे कारोबारी गुप्ता परिवार ने कुछ ही दिनों में दक्षिण अफ्रीका में बड़ा कारोबारी सम्राज्य खड़ा कर लिया। परिवार ने कंप्यूटर, खनन, मीडिया, टेक्नॉलजी और इंजिनियरिंग के क्षेत्र में तेजी से तरक्की की।

ये भी पढ़ें :-पार्टी का दबाव क़ामयाब, जैकब जुमा ने दिया राष्ट्रपति पद से इस्तीफा 

गुप्ता ब्रदर्स की कंपनी में जैकब जुमा का परिवार है जुड़ा

परिवार ने 2010 में ‘द न्यूज एज’ नाम से एक अखबार लॉन्च किया। जिसे जैकब जुमा समर्थक अखबार माना जाता है। इसी तरह 2013 में परिवार ने ANN7 नाम के एक 24 घंटे के न्यूज चैनल को लॉन्च किया। राजनीतिक गलियारों में भी गुप्ता परिवार का रसूख बढ़ने लगा और 2009 में जुमा के राष्ट्रपति बनने से पहले ही उनके सत्ताधारी अफ्रीकन नैशनल कांग्रेस (ANC) से करीबी रिश्ते बन गए।

सहारा कंप्यूटर्स में जैकब जुमा के बेटे दुदुजेन  थे डायरेक्टर

गुप्ता परिवार के मालिकाना हक वाली कंपनी सहारा कंप्यूटर्स में जैकब जुमा के बेटे दुदुजेन डायरेक्टर थे। परिवार ने अपने गृहनगर सहारनपुर के नाम से प्रेरित होकर अपनी कंपनी का नाम सहारा कंप्यूटर्स रखा था। दुदुजेन गुप्ता परिवार की कई कंपनियों से जुड़े रहे हैं। जुमा परिवार के लोग गुप्ता परिवार की कंपनियों से जुड़े हुए थे। जुमा की तीसरी पत्नी बोंगी नेमा भी गुप्ता ब्रदर्स की कंपनी में कर्मचारी थी। जुमा की एक बेटी भी गुप्ता ब्रदर्स की कंपनी से जुड़ी हुई थी।

गुप्ता ब्रदर्स ने जोनस को  फाइनैंस मिनिस्टर के पद की थी पेशकश

गुप्ता परिवार का नाम सबसे पहले तब विवादों में आया। जब मार्च 2015 में पूर्व डेप्युटी फाइनैंस मिनिस्टर मेबिसी जोनस ने दावा किया कि गुप्ता ब्रदर्स ने उन्हें रिश्वत देने की कोशिश की। जोनस ने आरोप लगाया कि गुप्ता ब्रदर्स ने उन्हें 60 करोड़ रैंड (5 करोड़ डॉलर यानी करीब 320 करोड़ रुपये) देने की पेशकश की थी। आरोपों के मुताबिक गुप्ता ब्रदर्स ने जोनस के सामने फाइनैंस मिनिस्टर के पद की पेशकश की थी और बदले में उन्हें गुप्ता परिवार के इशारों पर काम करना था। 9 दिसंबर 2015 को बहुत कम समय के लिए वित्त मंत्री का पद संभालने वाले ANC के सांसद डेविड वैन रूयेन को अपने शपथ से एक रात पहले ही गुप्ता के घर जाने का भी खुलासा हुआ था।

पब्लिक प्रोटेक्टर ने अक्टूबर 2016 में प्रकाशित की थी एक रिपोर्ट

दक्षिण अफ्रीका में भ्रष्टाचार निरोधक इकाई पब्लिक प्रोटेक्टर ने अक्टूबर 2016 में एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी जिसमें बताया गया था कि किस तरह बिजली के क्षेत्र में एकाधिकार रखने वाली सरकारी कंपनी ने गुप्ता से जुड़ी कंपनियों से मार्केट प्राइस से ज्यादा पर बड़े पैमाने पर कोयले की खरीदारी की थी। रिपोर्ट में यह भी आरोप लगाया गया कि पूर्व खनन मंत्री मोसेबेंजी ज्वैन ने गुप्ता बंधु के साथ स्विटजरलैंड की यात्रा की थी और उन्हें एक संघर्षरत कोल माइन को खरीदने की डील में मदद की थी। हाल के सालों में कई बड़े बैंकों ने गुप्ता परिवार को दी गई अपनी सुविधाओं को वापस ले लिया था।

युवावस्था से ही अजय बड़े  थे महत्वाकांक्षी

अजय गुप्ता के पिता शिव कुमार राशन दुकान चलाते थे। यहां उनका पुश्तैनी मकान भी था। युवावस्था से ही अजय बड़े महत्वाकांक्षी थे। पहले दिल्ली में उन्होंने एक होटल में नौकरी की। भाई राजेश गुप्ता व अतुल के साथ मिलकर दक्षिण अफ्रीका में सहारा कंप्यूटर्स की नींव रखी। सहारनपुर के हकीकत नगर भगत सिंह कॉलोनी में भी करीब 12 वर्ष पहले सहारा कंप्यूटर्स के भव्य शोरूम का उद्घाटन हुआ था। भव्य शिवधाम की नींव रखी अजय गुप्ता ने अपने पिता की स्मृति में बाबा लालदास घाट परिसर में तीन साल पहले भव्य शिवधाम का निर्माण आरंभ कराया था।

2016 में अजय ने बेटे कमल की शादी में, यूपी के  आधा दर्जन से अधिक मंत्री हुए थे शामिल

उद्घाटन पर तत्कालीन सपा सरकार के आधा दर्जन से अधिक मंत्री शामिल हुए थे। 2016 में अजय ने बेटे कमल की शादी की। रिसेप्शन के लिए कई विदेशी मेहमान आए थे। मेहमानों को देहरादून रोड पर बनाए गए हेलीपैड पर उतारा गया था।

Related posts:

उपजिलाधिकारी का आदेश नहीं मान रहे दबंग
बाल व्यास राधा स्वरूपा जया ‘किशोरी’ का पहला तीन दिवसीय ‘नानीबाई रो मायरो’ नृत्य नाटिका का मंचन राजधा...
सुशील मोदी ने इस काम में सहयोग के लिए RJD-कांग्रेस से की Request
बुलंदशहर: दो बहनों की बेरहमी से हत्या, Proof मिटाने के लिए शव को जलाया
गोरखपुर और फूलपुर के लिए कांग्रेस ने उम्मीदवार की घोषणा, BJP को देंगे कड़ी टक्कर
नेताओं पर जारी है जूतों को बौछार
ताजमहल पर अपना हक़ साबित नहीं कर पाया सुन्नी वक्फ बोर्ड
1090, एंटी रोमियो और यूपी-100 सेवाएं जुड़ेगी, होगा बेहतर तालमेल
लूटपाट का विरोध करने पर सैन्य कर्मी को मारी गोली
पाकिस्तान से चुनाव लड़ेंगी शाहरुख खान की बहन
दिल्ली-एनसीआर में तेज धूल भरी आंधी से कई इलाकों की बिजली गुल, मेट्रो सेवा पर भी असर
बिहार में शराब के बाद अब खैनी पर प्रतिबंध की बारी, बैन के लिए केंद्र को लिखी चिट्ठी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *