SP-BSP Alliance : चाचा के साथ और बुआ-बबुआ के खिलाफ कहा ठग-बंधन

लखनऊ। लखनऊ में एसपी-बीएसपी के गठबंधन को अभी ज्यादा दिन भी नहीं हुए है फिर भी अभी से सभी पार्टी विधायक अपने-अपने राब गलना शुरू कर दिए है यहा तक की फिरोजाबाद के एसपी विधायक ने भी इस एसपी-बीएसपी गठबंधन पर सवाल उठा दिए हैं। एसपी विधायक हरीओम यादव ने कहा है कि एसपी-बीएसपी का गठबंधन ज्यादा दिन नहीं चलेगा।

उन्होंने कहा है कि यहां ये गठबंधन तभी तक चल सकता है, जब तक हमारे राष्ट्रीय अध्यक्षजी ‘बहनजी’ की हां में हां मिलाते रहेंगे और घुटने टेकते रहेंगे।

विधायक हरिओम यादव फिरोजाबाद के सिरसागंज से विधायक हैं और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव के धुर विरोधी हैं। अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान तो उन्होंने ये तक कह दिया कि फिरोजाबाद से एसपी के वर्तमान एमपी और रामगोपाल के बेटे अक्षय यादव अगला लोकसभा चुनाव हारने जा रहे हैं। हरिओम यादव का तो ये तक कहना है कि एसपी-बीएसपी का गठबंधन कहीं भी कामयाब हो जाए लेकिन फिरोजाबाद में तो ये फेल ही होगा।

हरिओम यादव के बागी सुर साफ सुनाई दे रहे हैं। उन्होंने शिवपाल यादव की भूरी-भूरी प्रशंसा की और उन्हें यूपी की राजनीति में बड़ा नेता बताया। साथ ही प्रोफेसर रामगोपाल यादव को बीजेपी का एजेंट बोलते हुए उन्होंने जमकर वार किए। हरिओम यादव ने साफ कर दिया है कि आने वाले चुनावों में जरूरी नहीं है कि वो अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी का सपोर्ट करेंगे।

ये भी पढ़ें:- बजरंग दल नेता समेत छह लोगों के खिलाफ केस दर्ज, महिला से चौथ मांगने का आरोप 

विधायक ने कहा कि फिरोजाबाद लोकसभा सीट से शिवपाल सिंह यादव चुनाव लड़ेंगे। यदि नहीं लड़ते हैं तो जनता जो फैसला करेगी वहीं हम करेंगे। उनके लिए पहले नेता शिवपाल सिंह यादव हैं और जो वो कहेंगे उसी के हिसाब से हरिओम यादव काम करेंगे।

आपको बता दें कि बीते शनिवार को बीएसपी सुप्रीमो मायावती और सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 2019 के लोकसभा चुनाव को एक साथ लड़ने का निश्चय किया। दोनों ही पार्टियों ने सूबे की 80 सीटों में से 38-38 सीटें आपस में बांट ली हैं और 2 सीटें आरएलडी जैसे सहयोगियों के लिए छोड़ दी हैं। साथ ही अमेठी और रायबरेली की सीटों पर वो कांग्रेस के सामने कोई भी प्रत्याशी नहीं उतारेंगे।

लखनऊ में शनिवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद से ही सभी पार्टियों ने गठबंधन पर सवाल उठाने शुरू कर दिये थे लेकिन जब अपनी ही पार्टी के विधायक सवाल उठाए तो मामला गंभीर ही हो जाता है। आज ही लखनऊ में तेजस्वी यादव ने अखिलेश यादव के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की है जिसमे साफ तौर से कहा है की वो भी इस गठबंधन का हिस्सा बनना चाहते है।

Loading...
loading...

You may also like

उमा भारती नहीं लड़ेगी लोकसभा चुनाव 2019, बीजेपी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त

🔊 Listen This News नई दिल्ली। भारतीय जनता