Main Sliderउत्तर प्रदेशख़ास खबरखेलनई दिल्लीमेरठ

यूपी के इस जिले में जल्द ही खुलेगा प्रदेश का पहला खेल विश्वविद्यालय

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बनने वाले खेल विश्वविद्यालय का मसौदा राज्य सरकार ने तैयार कर लिया है जिसे पश्चिम उत्तर प्रदेश के मेरठ में स्थापित किया जायेगा। राज्य सरकार जल्द ही इस संबंध में विधेयक को मंजूरी देगी।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इसके लिये मेरठ मे 25 एकड़ जमीन की पहचान भी कर ली गई है। राज्य सरकार ने पहला खेल विश्वविद्यालय खोलने का फैसला इसी महीने लिया था और इसके लिये विधेयक बनाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई थी।

पहले इसे राजधानी के गुरू गोविंद सिंह खेल कालेज में बनाने की योजना थी लेकिन बाद में इस विचार को बदल दिया गया और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसी जिले में खोलने का निर्णय लिया गया और काफी सोच विचार के बाद इसके लिये मेरठ का चयन किया गया।

लाॅकडाउन में जियो प्लेटफॉर्म्स की बल्ले-बल्ले, एक माह में पांचवा निवेशक बना केकेआर

इसके लिये निर्माण एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट भी राज्य सरकार को सौंप दी है। राज्य के खेल विभाग ने मेरठ जिला प्रशासन को उपलब्ध जमीन का पूरा ब्योरा देने का निर्देश दिया है। दूसरी ओर मेरठ जिला प्रशासन ने उपलब्ध जमीन के बारे में राज्य सरकार को पूरी जानकारी दे दी है।

विश्वविद्यालय में खिलाड़ियों को उच्च गुणवत्ता वाला प्रशिक्षण दिया जायेगा ताकि वे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर राज्य का नाम रोशन कर सकें। राज्य सरकार खेल पर काफी ध्यान दे रही है। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सदस्य और सूबे के पूर्व खेल मंत्री चेतन चौहान ने कहा कि खेल विश्वविद्यालय खुलने से उभरते हुये खिलाड़ियों को बेहतर सुविधा मिलेगी और वे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अच्छा प्रदर्शन करने में सक्षम होंगे।

चौहान ने कहा कि विधेयक मे विश्वविद्यालय के संचालन और प्रारूप के बारे में विस्तार से जानकारी दी जायेगी। खेल विभाग ने देश के अन्य खेल विश्वविद्यालयों से जानकारी मांगी है कि इसके पाठ्यक्रम में किन किन विषयों को शामिल किया जाये।

loading...
Loading...