बच्चों की झाडू व चप्पलों से होती है पिटाई, खाने में निकलते हैं कीड़े

बच्चोंबच्चों

लखनऊ। आल इण्डिया क्राइम प्रिवेंशन सोसाइटी द्वारा संचालित प्रगति आश्रम हाई स्कूल के बच्चों ने आज स्कूल में खराब खाना और अध्यापकों के अमानवीय व्यवहार से आजिज होकर प्रदर्शन किया। छात्रों का आरोप है कि खाने की गुणवत्ता खराब है, कभी कभी खाने में कीड़े भी निकलते हैं और यदि किसी छात्र ने आपत्ति जताई तो उसकी झाडू व चप्पलों से पिटाई की जाती है। ऐसा कहना है स्कूल के हास्टल में रह कर पढ़ाई कर रहे कई छात्रों का। किन्तु स बंधित अधिकारी आंखे बन्द किये हुए हैं। सुनवाई न होने पर स्कूल के छात्रों ने प्रदर्शन कर अपना आक्रोश जताया। ठाकुरगंज पुलिस ने हस्तक्षेप कर मामले को शांत कराया है।

बच्चों का कहना था कि हमे काफ़ी समय से घटिया किस्म का खाना दिया जा रहा है

बताते चलें कि पूरा मामला लखनऊ के बालागंज चौराहे पर स्थित प्रगति आश्रम हाई स्कूल का है। जो कि ऑल इंडिया क्राइम प्रिवेंशन सोसाइटी द्बारा संचालित किया जाता है तथा समाज कल्याण विभाग उत्तर प्रदेश द्बारा अनुदानित भी है। इस स्कूल में लगभग 140 बच्चे पढ़ते हैं और इसी स्कूल के हॉस्टल में रहते भी हैं। इन बच्चों ने आज स्कूल प्रशासन पर कई तरह की अनिमियताए बरतने का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया। जिसको बाद में थाना ठाकुरगंज की पुलिस ने हस्तक्षेप करके समाप्त करवाया। बच्चों का कहना था कि हमे काफ़ी समय से घटिया किस्म का खाना दिया जा रहा है, जिसमें बासी दाल दी जाती है, कभी कभी खाने में कीड़े निकलते हैं, तो कभी खाने में कांच भी निकल आता है।

ये भी पढ़े : एसटीएफ ने मुठभेड़ के दौरान दबोचा 25 हजार का इनामी

यदि कोई छात्र शिकायत करता है, तो उसे चप्पलों से व झाडू से मारा भी जाता है। छात्रों ने अध्यापकों पर आरोप लगाते हुए कहा कि क्लास में कोई पढ़ाई से स बंधित सवाल पूछ लो तो बोलते हैं अभी चप्पल से मरूंगा। लगभग सभी बच्चों ने एक आवाज होकर खराब खाने की और पिटाई किये जाने की बात कही। वहीं दूसरी ओर इस स्कूल के प्रधानाचार्य प्रेम नारायण पाल का कहना है कि बच्चों को मारने की बात गलत है। ये सही है कि खाने की व्यवस्था कुछ दिनों से गड़़बड है। खाने की कुछ दिनों से शिकायतें मिल रही हैं। जिसके बारे में हम इनके कैटरिग इंचार्ज को बुलवा रहे है। समाज कल्याण अधिकारी को भी बुलवा रहे हैं उनके आने पर ही निर्णय पूरा हो पायेगा।

loading...
Loading...

You may also like

किसानों के आंदोलन की वजह से गयी सरकार- राकेश टिकैत

रामपुर। पूरे मुल्क में किसानों का क़र्ज़ सबसे