आधार कार्ड पर SC का फैसला, इन सेवाओं में आधार की जरूरत नहीं

आधार कार्डआधार कार्ड

नई दिल्ली। बुधवार को  सूप्रीम कोर्ट ने आधार कार्ड की अनिवारता पर बड़ा फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने आधार ऐक्ट की धारा 57 को रद्द किया। प्राइवेट कंपनियां आधार की मांग नहीं कर सकतीं। 3 बेंच की खंडपीट ने इस फैसले को सुनाया। सुप्रीम कोर्ट ने  कहा है की आधार लोगों की एकमात्र पहचान बन चुका था ।

इन सेवाओं पर आधार जरूरी नहीं:-

  •  अब स्कूल में भी आधार की अनिवारता को रद्द कर दिया है। जिसके चलते अब स्कूल में आधार अनिवार्य नहीं है।
  • अब बैंक के अकाउंट को आधार से लिंक करना जरूरी नहीं है।
  • मोबाइल को भी अब आधार से लिंक करने की अवशकता नहीं

ये भी पढे :  सुप्रीम कोर्ट का फैसला, सरकारी नौकरी प्रमोशन में SC/ST कर्मियों को मिलेगा आरक्षण 

आधार से आम जनता को लाभ

सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि, “आधार कार्ड पर UIDAI द्वारा नागरिकों के न्यूनतम जनसांख्यिकीय और बॉयोमीट्रिक डेटा एकत्र किए जाते हैं। किसी व्यक्ति को दिया गया आधार संख्या अद्वितीय है और किसी अन्य व्यक्ति के पास नहीं जा सकती।” न्यायमूर्ति एके सिकरी का कहना है, “आधार समाज के हाशिए वाले वर्ग को अधिकार देता है और उन्हें एक पहचान देता है, आधार अन्य आईडी प्रमाणों से भी अलग है क्योंकि इसे डुप्लिकेट नहीं किया जा सकता है। साथ ही न्यायमूर्ति एके सिकरी ने केंद्र से कहा कि “जितनी जल्दी हो सके मजबूत डेटा संरक्षण कानून पेश करें”

loading...
Loading...

You may also like

उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती की रेस से होंगे बाहर 67,000 आवेदक

इलाहाबाद। उत्तर प्रदेश के सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों