गायत्री प्रजापति को बड़ा झटका, सुप्रीमकोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका

गायत्री प्रजापतिगायत्री प्रजापति

नई दिल्ली। सुप्रीमकोर्ट ने बलात्कार के मामले में समाजवादी पार्टी के सरकार में मंत्री गायत्री प्रजापति की जमानत याचिका को खारिज कर दिया है। बुधवार को देश के सर्वोच्च न्यायालय ने याचिका को ख़ारिज करते हुए बलात्कार के मामलों में कोई लापरवाही नहीं करने का फैसला लिया है। बता दें कि उत्तर प्रदेश की सरकार ने प्रजापति की जमानत याचिका के खिलाफ शीर्ष अदालत में दलील दी है कि पूर्व मंत्री के खिलाफ पर्याप्त सबूत मिले हैं। जमानत दिये जाने पर गवाह और सबूतों से छेड़छाड़ का खतरा बढ़ जायेगा।

सुप्रीमकोर्ट में गायत्री प्रजापति की याचिका खारिज

सुप्रीमकोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद शीर्ष अदालत ने गायत्री प्रजापति के जमानत याचिका खारिज कर दी है। जानकारी के मुताबिक सर्वोच्च न्यायालय ने बलात्कार के मामले में उत्तरप्रदेश के पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की जमानत याचिका बुधवार को खारिज कर दी। मालूम हो कि प्रजापति बलात्कार के मामले में करीब एक साल से ज्यादा समय से जेल में बंद हैं। पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की जमानत याचिका के विरोध में उत्तर प्रदेश की सरकार ने शीर्ष अदालत में दलील दी कि प्रजापति के खिलाफ काफी सबूत मिले है। अब भी पीडि़ता और अहम गवाहों के बयान अदालत में दर्ज होना है।

ये भी पढ़ें: केंद्र ने स्वीकारा महबूबा मुफ़्ती का प्रस्ताव, रमज़ान में आतंकियों पर एक्शन नहीं 

पूर्व मंत्री को जमानत दिये जाने के बाद गवाह और सबूतों से छेड़छाड़ का खतरा बढ़ जायेगा। शीर्ष अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलों को सूनने के बाद प्रजापति की जमानत याचिका खारिज कर दी। मालूम हो कि गायत्री प्रजापति पिछले साल विधानसभा चुनाव के दौरान ही गिरफ्तार कर लिये गये थे। गिरफ्तारी के बाद से वह अब तक जेल में बंद हैं।

loading...
Loading...

You may also like

दिल्ली सरकार पर एनजीटी ने ठोका 50 करोड़ का जुर्माना

नई दिल्ली। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की गाज