मुसलमानों के लिए बाबरी ही नहीं, बराबरी भी अहम – नकवी

महागठबंधन
Loading...

नई दिल्ली।देश के बहुचर्चित अयोध्या श्रीराम जन्मभूमि केस में 9 नवम्बर को आए सुप्रीम कोर्ट के एतिहासिक फैसले का सभी वर्गों ने सम्मान किया। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, सुप्रीम कोर्ट के फैसले से अयोध्या मामला सुलझ गया है। मुसलमानों के लिए बाबरी ही नहीं आर्थिक और सामाजिक उत्थान में बराबरी भी अहम मुद्दा है। उन्होंने AIMPLB और जमीयत की पुनर्विचार याचिका दायर करने को लेकर आलोचना करते हुए कहा कि अयोध्या मामले को उलझाने की कोशिश नहीं की जानी चाहिए।

AIMPLB और जमीयत दायर करेगी पुनर्विचार याचिका 

समाचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार जमीयत-उलेमा-ए-हिंद के सूत्रों ने पिछले हफ्ते कहा था कि 3 या 4 दिसंबर को मामले में पुनर्विचार याचिका दायर करने की बात कही है। वहीं AIMPLB ने भी कहा कि 9 दिसंबर से पहले वे भी पुनर्विचार याचिका दायर करेंगे।

नकवी का हमला

AIMPLB और जमीयत पर हमला करते हुए नकवी ने कहा, वे विभाजन और टकराव का माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं, जो किसी भी समाज द्वारा स्वीकार नहीं किया जाएगा।

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले का समाज के सभी वर्गों ने स्वागत और सम्मान किया है। लेकिन अगर कुछ लोग इस तथ्य को पचा नहीं पा रहे हैं कि इस फैसले के बाद एकता मजबूत हुई है, तो यह दुखद है।

मुसलमानों के लिए बाबरी ही नहीं बराबरी भी अहम- नकवी


केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि मुसलमानों के लिए बाबरी ही नहीं बल्कि आर्थिक और सामाजिक उत्थान में बराबरी भी वास्तविक मुद्दा है। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या मामले को उलझाने की कोशिश नहीं की जानी चाहिए।

अयोध्या मामला सुलझा- नकवी

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से अयोध्या मामला सुलझ गया है। उन्होंने एआइएमपीएलबी और जमीयत की पुनर्विचार याचिका दायर करने को लेकर आलोचना की।

Loading...
loading...

You may also like

नागरिकता कानून : हिंसा स्वीकार नहीं, प्रदर्शन शांतिपूर्ण होना चाहिए : केजरीवाल

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। नागरिकता