Main Sliderअंतर्राष्ट्रीयक्राइमख़ास खबरजम्मू कश्मीरनई दिल्लीराजनीतिराष्ट्रीयविचार

गिरफ्तार डीएसपी को मिले मेडल पर सुरजेवाला ने उठाया सवाल, कहा होनी चाहिए जांच

नई दिल्ली। हिजबुल कमांडर नवीद बाबू और उसके साथी के साथ जम्मू-कश्मीर में पकड़े गए डीएसपी देविंदर सिंह से लगातार पूछताछ हो रही हैं। पूछताछ के दौरान हुए खुलासे के बाद बीते कल सोमवार को उसके श्रीनगर में इंदिरा नगर स्थित आवास पर छापा मारा गया।

पूरे मामले से जुड़ी अहम कड़िया तलाशने के लिए एक दर्जन जांच टीम बनाई गई हैं। यह टीम कश्मीर के अलग-अलग हिस्सों में जांच कर रही हैं। एक टीम स्थायी तौर पर शोपियां में है। डीएसपी से आईबी और रॉ समेत कई एजेंसियों ने पूछताछ की है।

सुरजेवाला ने आरोपी डीएसपी को मेडल दिए जाने पर भी उठाया सवाल

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने केंद्र सरकार से पूछा कि देविंदर सिंह कौन है? 2001 में संसद पर हुए हमले में उसकी क्या भूमिका थी, पुलवामा में हुए आतंकी हमले में उसकी क्या भूमिका थी जहां वो डीएसपी के पद पर तैनात था।

‘मेरी कीमत सिर्फ दो हजार रुपये नहीं है। मैं इससे कहीं अधिक मूल्यवान हूं।’- ओवैसी 

कांग्रेस नेता ने पूछा है कि क्या वो अपनी कार में हिज्बुल के आतंकियों को ले जा रहा था या वो पूरी साजिश का केवल एक मोहरा है और इसका मुख्य साजिशकर्ता कहीं और है? आरोप है कि वो 12 लाख रुपये के एवज में 2 आतंकवादियों और उनके एक सहयोगी को दिल्ली ला रहा था। ये षड्यंत्र क्या था। देश के गृह मंत्री को इस मामले की तहकीकात करनी चाहिए और साफ करना चाहिए।

पुलवामा हमले पर कांग्रेस ने केंद्र से पूछा कि हमले में हमारे 42 जवान शहीद हुए थे। वो आरडीएक्स कहां से आया? वो आरडीएक्स लेकर कौन आया? ये इतनी सुरक्षा के बाद कैसे हो गया? जो कार सेना के काफिले में नहीं आ सकती थी वो कार कहां से आ गई?

सुरजेवाला ने आरोपी डीएसपी को मेडल दिए जाने पर भी सवाल उठाया। कांग्रेस नेता ने कहा, ‘एक तरफ आप देविंदर सिंह को पुलिस मेडल दे रहे हैं। दूसरी तरफ देविंदर तीन आतंकियों को प्रवेश करा रहा था। सरकार कह रही है कि उसको इसकी एवज में 12 लाख रुपये मिलने थे। ये पूरी कहानी संशय पैदा करती है। इसकी जांच होनी चाहिए?’

loading...
Loading...