सुशील मोदी ने नीतीश को बताया एनडीए का कैप्टन, फिर चंद मिनटों में डिलीट किया ट्वीट

नीतीश को बताया एनडीए का कैप्टननीतीश को बताया एनडीए का कैप्टन
Loading...

पटना। बिहार में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा और जदयू नेताओं के बीच घमासान जारी है। बयानबाजी उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी के ट्वीट से और तेज गया है। बुधवार को सुशील मोदी ने ट्वीट किया कि नीतीश कुमार ही बिहार एनडीए के कैप्टन हैं, लेकिन करीब 10 मिनट बाद ही ये ट्वीट डिलीट भी कर दिया।

सुशील कुमार ने लिखा था- नीतीश ही बिहार में एनडीए के कैप्टन हैं और 2020 चुनाव में भी कैप्टन रहेंगे। जब कैप्टन चौके-छक्के मार रहा है तो फिर किसी तरह के बदलाव का सवाल ही नहीं उठता है। हालांकि, ट्वीट करने के 10 मिनट बाद सुशील मोदी ने अपनी पोस्ट को डिलीट कर दिया।

समाज के लिए बेहतर है अंतर-जातीय और अंतर-धार्मिक विवाह : सुप्रीम कोर्ट

बिहार में इन दिनों भाजपा-जदयू नेताओं के बीच घमासान मचा हुआ है। दोनों तरफ से तल्ख बयानबाजी जारी है। हालांकि, सुशील मोदी अपने बयानों में हमेशा नीतीश का समर्थन ही करते नजर आते हैं, लेकिन पार्टी के कई बड़े नेता नीतीश को निशाने पर लेने से नहीं चूकते। सुशील मोदी का अपना ट्वीट डिलीट करना इसी सिलसिले की एक कड़ी माना जा रहा है।

हाल ही में भाजपा नेता संजय पासवान ने कहा था कि इस बार नीतीश भाजपा को सीएम पद की कुर्सी सौंपें। वह 15 साल राज कर चुके हैं, अब केंद्र में योगदान दें। इसे लेकर भी खासा विवाद हुआ था। जवाब में जदयू ने पलटवार करते हुए कहा कि ऐसा सवाल ही नहीं पैदा होता। केसी त्यागी ने कहा था कि नीतीश किसी को रहमोकरम पर सीएम नहीं बने हैं, बल्कि जनादेश से सीएम बने हैं। कुछ नेता सुर्खियों में बने रहने के लिए इस तरह का बयान देते हैं।

Loading...
loading...

You may also like

डबलिन की परेशानी, अगर ऐपल टैक्स केस हार जाती है तो आयरलैंड में निवेश पर उलटा पड़ सकता है असर

Loading... 🔊 Listen This News ऐपल पर 14