स्वामी रामदेव बोले चीन को सबक सीखाने को करें उसका आर्थिक बहिष्कार

स्वामी रामदेवस्वामी रामदेव

हरिद्वार। पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का सरगना मसूद अजहर एक बार फिर चीन के अड़ंगा लगाने के कारण संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में वैश्विक आतंकवादी घोषित नहीं कर पाया। इससे नाराज स्वामी रामदेव ने चीन पर कड़ा प्रहार किया है। स्वामी रामदेव ने कहा कि युद्ध से भी ज्यादा ताकतवर आर्थिक बहिष्कार है। इसलिए देश की जनता चीन का हर लिहाज से बहिष्कार करें, ताकि चार बार वीटो लगाकर आतंकी मसूद अजहर को बचाने वाले चीन की आर्थिक कमर टूट जाए ।

ये भी पढ़ें :-रामपुर में ग़ैर क़ानूनी काम से फैलायी जा रही है दहशत, अघोषित कर्फ्यू :आज़म 

अब चीन को दूसरी भाषा में समझाने की जरूरत

यह बात है स्वामी रामदेव ने अपने टि्वटर हैंडल पर अभी शेयर की है। उन्होंने साफ कहा है कि मसूद अजहर समर्थक चीन सहित जो देश और देश के अंदर लोग हैं उनका हमें राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक तौर पर बहिष्कार करने की अब जरूरत है। उन्होंने कहा कि भारत सहित कुछ अन्य देशों की ओर से यह कोशिश संयुक्त राष्ट्र में लगातार की जा रही है कि अजहर मसूद को वैश्विक आतंकवादी घोषित कर उस पर लगाम कसी जाए, लेकिन हर बार चीन इसमें अड़ंगा डाल रहा है। इसलिए अब चीन को दूसरी भाषा में समझाने की जरूरत है।

ये भी पढ़ें :-लोकसभा चुनाव 2019 : पहाड़ पर कठिन है साइकिल और हाथी की डगर

युद्ध से भी ज्यादा ताकतवर होता है आर्थिक बहिष्कार 

स्वामी रामदेव ने कहा है कि युद्ध से भी ज्यादा ताकतवर आर्थिक बहिष्कार होता है। केंद्र सरकार चाह ले तो चीन की आर्थिक कमर को तोड़ी जा सकती है। इसलिए सभी को एकजुट होकर चीन के सामानों का बहिष्कार करने की जरूरत है। ताकि आतंकी मसूद अजहर को समर्थन करने वाले चीन की एक बड़ा सबक मिल सके।

मतदान जरूर करें, एक वोट की बहुत है कीमत

स्वामी रामदेव ने कहा कि लोकतंत्र के महापर्व का ऐलान हो चुका है। अब देशवासियों से अपील है कि वह अपना बेशकीमती वोट डालने मतदान स्थल पर जरूर जाएं। उनका एक वोट देश की तकदीर और तस्वीर दोनों बदल सकती है इसलिए मतदान में जरूर भागीदारी करें।

Loading...
loading...

You may also like

माध्यमिक विद्यालय शैक्षिक सत्र 2018-19 में यू-डायस प्रपत्र 28 मई तक भरें

🔊 Listen This News लखनऊ। जिला विद्यालय निरीक्षक/जिला