मानस में दशावतार विषय पर कथा सुनाएंगे: स्वामी राम भद्राचार्य

स्वामी राम भद्राचार्यस्वामी राम भद्राचार्य

लखनऊ। जगद्गुरू रामानंदाचार्य स्वामी राम भद्राचार्य जी महाराज के श्रीमुख से नौ दिवसीय श्रीराम कथा का आयोजन बुधवार  से मोतीमहल लान में किया जाएगा। यह जानकारी  कथा के मुख्य संयोजक हरिओम तिवारी ने मंगलवार को मोतीमहल लान में आयोजित पत्रकार वार्ता में दी। उन्होंने बताया कि श्रीराम कथा सायंकाल तीन बजे से छह बजे तक होगी। इस बार स्वामी राम भद्राचार्य जी महाराज मानस में दशावतार विषय पर कथा सुनाएंगे।

कथा की दान-दक्षिणा से चित्रकूट में चलता है विकलांग विश्वविद्यालय

यह राजधानी में किसी भी कथावाचक के मुख से पहली बार कथा सुनाई जाएगी। कथा का प्रारम्भ प्रतिदिन हनुमान जी की पूजा व उसके बाद स्वामी राम भद्राचार्यजी महाराज की चरण वंदना भक्त करेंगे। उसके बाद विधिवत मानस के अलग-अलग अध्यायों पर प्रवचन करेंगे। अंत में आरती के साथ कथा समापन होगा। श्री तिवारी ने बताया कि आचार्य  द्वारा कथावाचन से जो भी दान-दक्षिणा आती उससे वह  चित्रकूट में स्थित विकलांग विश्वविद्यालय में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं के पठन-पाठन व उनके खान पर खर्च करते हैं। इस विश्वविद्यालय की स्थापना 1992 में स्वामी ने की थी।

ये भी पढ़ें :-बिजनौर: मंदिरों से लाऊडस्पीकर हटाने पर हिन्दुओं ने छोड़ा गांव, भेदभाव का लगाया आरोप 

स्वामी के व्यक्तित्व पर अभी तक 14 शोधार्थी कर चुके हैं पीएचडी

फिलहाल इस विवि में 7,700 स्टूडेंट अध्ययनरत हैं। स्वामी के व्यक्तित्व पर अभी तक 14 शोधार्थी पीएचडी कर चुके हैं। स्वामी राम भद्राचार्यजी महाराज को 22 भाषाओं की अच्छी तरह से जानकारी है।

स्वामी राम भद्राचार्यजी महाराज को 2015 में मिल चुका है पद्म विभूषण पुरस्कार

स्वामी राम भद्राचार्यजी महाराज को 2015 में राष्ट्रपति उनके सामाजिक सरोकार को देखते हुए पद्म विभूषण पुरस्कार से अलंकृत कर चुके हैं। स्वामी राम भद्राचार्यजी महाराज करीब 80 ग्रंथों का लेखन कर चुके हैं। स्वामी जी वेद,ग्रंथ, उपनिषद,वेदांत आदि को सरस व सरल शैली में प्रस्तुत करते हैं। इस अवसर पर शैलेश तिवारी, मनोज तिवारी,राजेश तिवारी, उमेश मिश्रा, अवधेश मिश्रा, महेश ओझा व हरि प्रसाद गुप्ता आदि मौजूद थे।

loading...
Loading...

You may also like

दिल्ली सरकार पर एनजीटी ने ठोका 50 करोड़ का जुर्माना

नई दिल्ली। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की गाज