उपचुनाव रुझानों पर तबस्सुम हसन बोली- कैराना में ही दफन हो जायेगी बीजेपी

तबस्सुम हसनतबस्सुम हसन

कैराना। यूपी की कैराना लोकसभा सीट काफी अहम है। ये सीट भाजपा के सांसद हुकुम सिंह के निधन से खाली हुई है। कैराना सीट पर मुकाबला हुकुम सिंह और अख्तर हसन के बीच है। इसी बेटी और बहु मुकाबला है। हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह बीजेपी की टिकट पर और दिवंगत सांसद मुनव्वर हसन की पत्नी तबस्सुम हसन आरएलडी के चुनाव चिह्न पर सपा-बसपा-कांग्रेस-आरएलडी गठजोड़ चुनावी मैदान में हैं। अभी तक तबस्‍सुम हसम 65 हजार से अधिक वोटों से आगे चल रही है। अगर रुझानों की तो भाजपा हार चुकी है।

वोटिंग के वक्त जो कहा था मैं अभी भी उस पर कायम हूं :  तबस्सुम हसन

पत्रकारों से बात करते हुए तबस्सुम हसन ने बताया कि ‘ये सच की जीत है, मैंने वोटिंग के वक्त जो कहा था मैं अभी भी उस पर कायम हूं। हमारे ख़िलाफ़ साजिश की गई इसलिए हम भविष्य में कोई भी चुनाव ईवीएम मशीन से करवाने के पक्ष में नहीं हैं। हसन ने कहा बीजेपी का दफन कैराना में होगा। भाजपा, 2019 में यूपी से भाजपा को मिलेंगी सिर्फ 3 सीट।

ये भी पढ़े : उपचुनाव मतगणना: कैराना में बीजेपी की हार तय, विपक्ष की स्थिति मजबूत

तबस्सुम हसन का काफी समय से है। उन्हें राजनीति का मास्टर कहा जाता है। कहते हैं वह आंकड़ों के खेल की माहिर हैं। साल 2009 में कैराना सीट से समाजवादी पार्टी की सांसद रह चुकी हैं। उनके पति मुनव्वर हसन 1996 में यहां से सांसद थे और बाद में 2004 में वो बसपा के टिकट पर मुजफ्फरनगर के सांसद बने। तबस्सुम के ससुर अख्तर हसन 1984 में कैराना से कांग्रेस के सांसद थे।

loading...
Loading...

You may also like

अभिजीत मर्डर केस में मां को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा जेल

लखनऊ। विवेक यादव उर्फ़ अभिजीत मर्डर केस में विधान