अधिकारियों को अगर खतरा है तो नही है पद पर रहने का अधिकार : तज़ीन फातिमा

नही है पद पर रहने का अधिकारनही है पद पर रहने का अधिकार

रामपुर : आज़म खान की पत्नी राज्यसभा सांसद डॉ तज़ीन फातिमा का बड़ा बयान बोली आज़म खान से जान का खतरा बताकर इन अधिकारियों ने अतिरिक्त सुरक्षा के लिए अर्ज़ी दी है, आपको बता दें कि जनता की सुरक्षा और कानून व्यवस्था बनाने के लिए भेजे गए अधिकारियों को अगर खतरा है तो उन्हें अपने पद पर रहने का अधिकार ही नही है। रामपुर लोकसभा सीट के गठबंधन से सपा के उम्मीदवार पूर्व कैबिनेट मंत्री मोहम्मद आज़म ख़ाँ की पत्नी राज्यसभा सांसद डॉ तज़ीन फातिमा ने आज प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए।

ये भी पढ़ें :  बेंगलुरु हैट लगाकर ट्रैफिक कंट्रोल करेंगे पुलिसवाले, गर्मियों में जवानों को मिलेगी राहत 

आपको बता दें कि डॉ तज़ीन फातिमा ने बंगाल, कश्मीर और पूरे मुल्क के हालात बताते हुए कहा कि रामपुर जिले को भी इसी तरह अराजकता के माहौल में  झोकने का प्रयास किया जा रहा है प्रशासन के ज़रिए ज़िला अधिकारी के साथ जो मण्डली आई हुई है ज़िले में, आज़म ख़ाँ से जान का खतरा बताकर इन अधिकारियों ने अतिरिक्त सुरक्षा के लिए अर्ज़ी दी है।

साथ ही आगे ये भी कहा कि जनता की सुरक्षा और कानून व्यवस्था बनाने के लिए भेजे गए अधिकारियों को अगर खतरा है तो उन्हें अपने पद पर रहने का अधिकार ही नही है प्रशासन ने यह किया है कि ज़िला अधिकारी के साथ आये अधिकारियो ने पुलिस अधीक्षक को एप्लिकेशन दी है कि उन्हें आज़म खान से अपनी जान का खतरा है ।

ये भी पढ़ें :  रमज़ान : हेयर डाई करवाने से रोज़े पर कुछ असर नहीं पड़ेगा 

जैसे ही जिला अधिकारी ज़िले में आये वैसे ही हमारे पूरे परिवार की कैमरों से रेकी करायी जा रही है, आज़म ख़ाँ,अब्दुल्ला आज़म और मेरा शस्त्र लाइसेन्स निलंबित कर दिए। वोटिंग से रोकने के लिए 77 हज़ार के क़रीब रेड कार्ड जारी कर घरों से निकलने पर रोक लगा दी गयी। एक निहत्थे आदमी से आपको क्या खतरा हो सकता है,बल्कि प्रशासन के पास पुलिस फोर्स है कोई हंगामा करा कर गड़बड़ी कराकर मेरे पति आज़म खान और बेटे अब्दुल्ला आज़म खान की हत्या करना चाहते है।

Loading...
loading...

You may also like

चुनाव परिणाम से पहले सेबी ने शेयर बाजारों की निगरानी व्यवस्था चाक-चौबंद की

🔊 Listen This News नयी दिल्ली।  नियामक सेबी