गोमतीनगर : युवती से मिलने गए युवक की मौत, युवती पर हत्या का आरोप…

24ghanteonline24ghanteonline

लखनऊ। राजधानी के गोमतीनगर थाना क्षेत्र में नौकरी करने के बाद युवती से मिलने गए कार चालक की संदिग्ध हालात में बुधवार की रात मौत हो गई। युवक की हालत बिगडऩे पर खुद युवती उसे लेकर राम मनोहर लोहिया अस्पताल गयी। जहां उसने मृतक को पति बता कर उसे इंमरजेन्सी में  भर्ती कराया। यहां इलाज के दौरान डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मृतक का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के परिजनों ने भर्ती कराने वाली युवती पर पर हत्या का आरोप लगाया है। फिलहाल पुलिस मामले की तहरीर लेकर पड़ताल कर रही है।

यह भी पढ़ें : लखनऊ : पीड़ितों की सुविधा के लिए थानों के प्रवेश द्वार पर लगेंगे सीसीटीवी कैमरे…

प्रभारी निरीक्षक गोमतीनगर अम्बर सिंह ने बताया कि…

मृतक के परिजनों ने हत्या किये जाने की तहरीर दी है। पीएम रिर्पोट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जा रही है। वहीं मृतक के साथ अस्पताल आयी युवती की भी तलाश की जा रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गोमतीनगर के उजरियांव गांव निवासी इसरार अहमद के छह बेटे है। जिसमें सद्दाम हुसैन उम्र 24 वर्ष चौथे न बर पर था। जो अविवाहित था। वह अपने परिवार के साथ रहता था। जबकी उसके पिता गांव में रहते है। बताया जा रहा है कि सद्दाम बालृ अड्डा निवासी शरफराज हुसैन की कार न बर यूपी-32-सीएम-0388 का चालक था। जो रोज की तरह शरफराज की कार चला कर शाम 7 के बजे के करीब अपनी स्कूटी पर निकाला था। जिसे देर शाम गोमतीनगर पुल पर देखा गया था। जिसके बाद रात करीब नौ बजे एक युवती ने उसे राम मनोहर लोहिया अस्पताल में बेहोशी की हालत में भर्ती कराया।

भर्ती कराने वाली युवती ने अस्पताल के फार्म मे अपना नाम तनवीर अनीस निवासी बाराबंकी भरा था। फार्म में उसने मृतक सद्दाम को अपना पति बताया था। भर्ती कराने के करीब आधा घंटे बाद ही युवक ने दम तोड़ दिया। युवक की मौत की सूचना मिलते ही युवती मौके से फरार हो गयी। जिसके बाद डाक्टरों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुचीं पुलिस ने मृतक सद्दाम के पास के मिले न बरों पर काल करके उसके घरवालों को सूचना दी। पुलिस की बातें सुनकर परिजनों के होश उड़ गए। परिजन आनन-फानन में अस्पताल पहुंचे। मौत की खबर मिलते ही उसके घर में कोहराम मच गया।

थाना प्रभारी गोमतीनगर अम्बर सिंह ने बताया कि लडक़े के घरवालों ने युवती पर हत्या करने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। पूरे मामले की जांच की जा रही है। सवाल ये भी है कि अगर युवती हत्या करना चाहती थी तो उसने अस्पताल में उसे भर्ती नहीं कराया होता। लेकिन घरवालों का आरोप है कि युवती की वजह से सद्दाम की हालत बिगड़ी। हालत बिगडऩे पर युवती डर गयी। जिसके बाद उसने घबराहट में उसे अस्पताल में भर्ती कराया। फिलहाल युवती घटना के बाद से फरार है। जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। जिसके मिलने पर मौत की असली वजह स्पष्ट हो जाएगी। मामले में मुकदमा दर्ज कर निष्पक्ष कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढ़ें : मोहनलालगंज : दबंग प्रधान ने भाईयों के साथ मिलकर की किसान की पिटाई…

मृतक का मोबाईल और आईडी लेकर युवती फरार

युवक की मौत के बाद उसके परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा काटा। आरोप है कि शाम को नौकरी से निकले के बाद वह युवती से मिलने गया। जहां पर उसे जहरीला पदार्थ पिला दिया गया। हालत बिगडऩे पर उसे युवती ने लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर मौत होने के बाद युवती सद्दाम का मोबाईल और आईडी कार्ड लेकर फरार हो गई। मृतक के परिवारीजन थाने पहुंचे और हंगामा करने लगे। परिजन युवती की गिर तारी की मांग कर रहे थे। पुलिस ने किसी तरह कार्रवाई का आयवासन देकर मामले को शांत करवाया।

सीसीटीवी फुटेज में बदहवास दिखी युवती

मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस अग्रिम कार्यवाही में जुट गयी। मौके पर अस्पताल में मौजूद सीसीटीवी फुटेज के जरिये जुटाये गये साक्ष्य के आधार पर युवती बदहवास दिखा रही है। जो युवक को अस्पताल में भर्ती कराने के बाद बदहवास सी इधर-उधर भगाती फिर रही है। पुलिस ने कई सीसीटीवी फुटेज बरामद की है। जिसके आधार पर पुलिस उसकी तलाश में जुट गयी है।

सेक्स पॉवर की खाई थीं चार गोलियां

पुलिस के अनुसार जब इस मामले में डाक्टरों से पूछताछ की तो उन्होनें बताया कि जब युवक भर्ती कराया गया तो वह बेहोशी की हालत मे था। जिसने पूछताछ में कुछ खास तो नहीं बताया, लेकिन उसने कहा कि उसने चार गोलियां खायी है। पुलिस के अनुसार हो सकता है कि शारीरिक ताकत बढ़ाने के लिये युवक ने युवती से शारीरिक स बन्ध बनाने के दौरान दवाई खायी हो। जिससे उसकी हालत बिगड़ गयी। जिसकी इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गयी। वहीं पुलिस ने मृतक की स्कूटी अस्पताल के कै पस से बरामद की गयी है। जिसे पुलिस उसके परिजनों के हवाले किया है।

युवती ने जन्मदिन की पार्टी देने के लिए बुलाया था

फरहान के मुताबिक सद्दाम करीब एक साल पहले खाड़ी देश से आया था। फिलवक्त वह नौकरी कर रहा था। बुधवार को उसका जन्मदिन था लेकिन सुबह ही वह काम पर चला गया। रात तक वह वापस नहीं लौटा। इस पर फरहान ने सरफराज को फोन करके उसके बारे में पूछा तो पता चला कि सद्दाम घर के लिए जा चुका है। रात करीब नौ बजे बाराबंकी में रहने वाली सद्दाम की परिचित युवती ने उसके नंबर से दोस्त जुनैद और मोनू को फोन करके बताया कि सद्दाम की हालत बिगड़ गई है। यह सुनते ही फरहान मोनू और जुनैद के साथ लोहिया अस्पताल पहुंचे। अस्पताल के इमरजेंसी में भाई का शव मिला।

loading...
Loading...

You may also like

विधान परिषद सभापति रमेश यादव के बेटे अभिजीत की गला घोंटकर हत्या

लखनऊ। विधान परिषद सभापति रमेश यादव के बेटे