सामने आया पुलिस का अमानवीय चेहरा, आरोपी को घसीटते हुए ले गयी अस्पताल

मुरादाबाद। शासन प्रशासन के लाख निर्देशों के बाद भी सूबे की पुलिस जनता की मित्र नहीं बन पा रही है। जनता को आये दिन किसी न किसी रूप में पुलिस का अमानवीय चेहरा नजर ही आ जाता है।

ये भी पढ़ें:संस्कृति हत्याकांड में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी: सीतापुर से पकड़ा गया हत्यारोपी 

किसी शख्स ने वीडियो बनाकर किया वायरल

ताजा मामला उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद का है। जहां सिविल लाइन स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय संयुक्त चिकित्सालय का है जहां दो पुलिसकर्मी एक चोर को मेडिकल कराने के लिए जमीन पर हाथ पकड़कर घसीटते हुए ले जा रहे है। वहां मौजूद किसी शख्स ने इसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया।

पुलिस

दोनों सिपाही निलंबित

वीडियो वायरल होने के बाद एसएसपी ने वीडियो में दिखाई दे रहे दोनों सिपाहियों को निलंबित कर दिया है। एसएसपी जे रविन्द्र गौड़ ने कहा कि मामले की पूरी जांच की जाएगी।

गेट पर पहुंचने से पहले बेहोश हो गया था बिलाल

जानकारी के अनुसार, पुलिस ने शहर के कटघर थाना क्षेत्र में चोरी के आरोप में एक युवक को गिरफ्तार किया था। कटघर पुलिस ने बिलाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने से पहले मेडिकल कराने के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय संयुक्त चिकित्सालय लेकर आए। बता दें कि अस्पताल के गेट पर पहुंचते ही बिलाल बेहोश हो गया। पुलिस वाले गेट से एमरजेंसी तक दोनों हाथ पकड़ कर जमीन पर ही घसीटते हुए लेकर आये।

ये भी पढ़ें:-चाचा-चाची पर भतीजे ने किया कुल्हाड़ी से वार, पुलिस ने हमलावर को बताया मंद बुद्घि 

एसपी ने किया सिपाहियों का बचाव

बिलाल के बेहोश होने के बाद पुलिस वालों ने अस्पताल से स्टेचर लेने की जहमत तक नहीं उठाई। वहीं, खड़े किसी शख्स से इसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। मामले की जानकारी जब एसपी सिटी अंकित को दी गयी और उन्हें उक्त वीडियो दिखाया गया तो उन्होंने सिपाहियों के बचाव करते हुए कहा कि आरोपी बिलाल मेडिकल कराने में आनाकानी कर रहा था, जिस कारण उसे जबरदस्ती अस्पताल ले जाया जा रहा था। वहीँ जब पुलिस कर्मचारियों से पूछा गया तो उन्होंने उल्टा आरोपी पर ही आरोप लगा दिया कि गेट के पास बिलाल ने हमारे ऊपर सड़क से ईंट उठाकर मारना शुरू कर दिया था जिस पर अपने आपको बचाने के लिए यह नाटक कर रहा है।

loading...

You may also like

पीएम को चोर करने पर भड़के सीएम योगी, कहा- राहुल और कांग्रेस देश से मांगे माफ़ी

गोरखपुर। राफेल डील को लेकर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति