ब्लू व्हेल चैलेंज टास्क पूरा करने के लिए पूर्वमंत्री का बेटा चौथी मंजिल से कूदा

लखनऊ। ब्लू व्हेल चैलेंज गेम में अंतिम टास्क का मतलब मौत होती है । जी हां ये हकीकत है, दरअसल इंदिरानगर में अपने मामा के घर रहकर निर्मला कान्वेंट स्कूल में 8वीं कक्षा में पढ़ाई करने वाला आदित्य वर्धन ने भी पिछली सात सितंबर  की रात टास्क को पूरा करने के लिए फांसी लगाकर मौत को गले लगा लिया।

कानपुर में भी इसी दिन एक छात्र ने फांसी लगाई ,हालांकि उसका भाई पीछे से पहुंच गया और उसके पैर ऊपर उठा दिए इससे उसकी जान बच गई थी। इन मामलों को लोग अभी सही से भूल भी नहीं पाए थे कि हजरतगंज इलाके में पूर्व बसपा मंत्री के बेटे ने टास्क को पूरा करने के लिए चौथी मंजिल से छलांग लगा दी।

इस घटना से इलाके में हडक़ंप मच गया। जानकारी के मुताबिक हजरतगंज के जॉपलिंग रोड पर एआई अपार्टमेंट है। अपार्टपमेंट की चौथी मंजिल पर अंबेडकर नगर के दिग्गज बसपा नेता राम लखन वर्मा अपने परिवार के साथ रहते हैं।

बताया जा रहा है कि बीते मंगलवार की रात 9.30 बजे बसपा नेता के 22 वर्षीय बेटे उत्कर्ष ने चौथे तल से छलांग लगा दी। घटना में बसपा नेता का बेटा घायल भी हुआ है,लेकिन उपचार कराने की जगह वह अपनी लक्जरी गाड़ी से अपार्टमेंट का गेट तोडक़र फरार हो गया।

युवक द्वारा नशे के चलते अपार्टमेंट की चौथी मंजिल से कूदना घटना के पीछे की मुख्य वजह बताई जा रही है। हालांकि घटना के पीछे घरवालों ने एक वजह यह भी बताई है कि उत्कर्ष अधिकतर मोबाइल पर व्यस्त रहता था। इसके चलते खतरनाक इंटरनेट गेम ब्लू व्हेल का टास्क पूरा करने के लिए युवक द्वारा अपार्टमेंट से कूदना और फिर गाड़ी से फरार होना बताया जा रहा है।

घटना के बाद से परिजनों के साथ ही अपार्टमेंट के लोग अचंभित है कि आखिर यह सब कैसे और क्यों हुआ ? फिलहाल युवक के सामने आने पर ही साफ हो पायेगा कि घटना के पीछे की असल वजह क्या थी। घरवाले इस घटना के पीछे ब्लू व्हेल गेम का चौलेंज गेम को मान रहे हैं, असल वजह क्या है ये जांच का विषय है।

 

loading...
Loading...

You may also like

नेपाल में नए भारतीय नोटो के प्रतिबंध के बाद सीमा पर बढ़ी चौकसी

सिद्धार्थनगर। नेपाल सरकार द्वारा 100 रुपए से अधिक