एसएसपी कलानिधी नैथानी ने कसे राजधानी के ग्रामीण थाना प्रभारियों के पेंच

मोहनलालगंज सर्किल के सभी थाना प्रभारी, चौकी प्रभारी को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए एसएसपी लखनऊ

लखनऊ। एसएसपी कलानिधी नैथानी ने मगंलवार को संपूर्ण समाधान दिवस  की समाप्ति के बाद मोहनलालगंज कोतवाली में एसपी (ग्रामीण) गौरव ग्रोवर व मोहनलालगंज सीओ आर.के. शुक्ला की मौजूदगी में मोहनलालगंज, गोसाईगंज, निगोहां व नगराम थाने में तैनात प्रभारियों, चौकी इंचार्जो व दरोगाओं के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक के दौरान उन्होंने जनता से स बन्ध सुधारने के साथ मित्र पुलिस की भूमिका निभाते हुये अपराध का निराकरण किये जाने बात कही। गांवों के गली-मोहल्लो में होने वाले अपराध व स्ट्रीट क्राइम को रोकने के लिये एंटी क्राइम हेल्पलाइन नंबर का प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये। दरोगाओ को लंबित विवेचनाओं को एक माह में निस्तारित करने के निर्देश दिये। एसएसपी कलानिधी नैथानी के सभी थानों के मुख्य रजिस्टरों व अभिलेखों को चेक किया।

एसएसपी ने बताया बैठक में थानाध्यक्षों/ बीट प्रभारियों को पब्लिक और पुलिस के बीच संवाद बढ़ाने के लिए गांवों में चौपाल लगाने के निर्देश दिये गये है। इसमें लोगों के साथ पुलिस परिवार की तरह बैठकर बातचीत करेगी। इससे ग्रामीण इलाकों में होने वाली वारदात पर लगाम कसेगी। एसएसपी कलानिधी नैथानी ने दरोगाओ/ बीट प्रभारियों से कहा ग्रामीण क्षेत्रो के गांवों को अपना घर और लोगों की समस्याओं को अपना समझकर काम करेंगे। मातहतों से भी यही मानते हुए काम करने की अपील करेंगे। किसी भी हालत में संवेदनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। एसएसपी ने अवैध शराब एवं मादक पदार्थों की तस्करी पर पूर्णतया प्रतिबंध लगाने के लिए सभी थाना प्रभारी, हल्का और बीट प्रभारी को निर्देशित किया है। इसके तहत मादक पदार्थों के निर्माणकर्ता, तस्कर, वितरक और उसे एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाने वाले कैरियर के बारे में पूरी जानकारी एकत्र करने को कहा गया है।

पढे:- 20 साल की मॉडल की हत्या से मचा हड़कंप, लाश को सूटकेस में भरकर झाड़ियों में फेंका

30 के बाद नपेंगे लापरवाह पुलिसकर्मी

एसएसपी कलानिधी नैथानी ने बताया बैठक में 30 अक्टूबर तक मादक पदार्थों की तस्करी व इससे जुड़े अपराध पर अंकुश लगाने के निर्देश जारी किए गए हैं। अगर 30 अक्टूबर के बाद किसी हल्का प्रभारी या बीट आरक्षी के क्षेत्र में इस बाबत पूर्ण रूप से रोक नहीं देखा गया तो उस क्षेत्र के इंस्पेक्टर, थानाध्यक्ष, चौकी प्रभारी व हल्का इंचार्ज के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई से लेकर निलंबन तक की कार्रवाई की जाएगी।

loading...
Loading...

You may also like

भगवान हनुमान और अम्बेडकर प्रतिमा हटाये जाने पर ग्रामीण हुए उग्र

लखनऊ। माल इलाके में बिना परमीशन के पंचायत