लंबे समय तक ड्रम बजाने वाले लोगों के दिमाग की बदल जाती है संरचना

- in फैशन/शैली, स्वास्थ्य
ड्रम बजाने से बदलती है दिमागी संरचना

नई दिल्ली। एक नए अध्ययन में पता चला है कि लंबे समय तक ड्रम बजाने वाले लोगों के दिमाग की संरचना और कार्य उन लोगों से अलग होते हैं, जो संगीत के क्षेत्र से नहीं जुड़े हैं। शोधकर्ताओं ने ड्रम बजाने में अनुभवी लोगों के दिमाग का विश्लेषण किया। इसमें उन्होंने पाया कि ड्रम बजाने से मस्तिष्क संरचना बदल जाती है।

इसके साथ ही अनुभवी ड्रम बजाने वाले व्यक्ति का मोटर कॉर्टेक्स (दिमाग का एक हिस्सा) अधिक कुशलता से काम करता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, ड्रम बजाने वाले लोगों के मोटर कॉर्टेक्स में सामान्य से कम तंत्रिकाएं होती हैं, लेकिन ये मोटी होती हैं।

ये तंत्रिकाएं मस्तिष्क के दो हिस्सों के बीच को जोड़ती हैं। यह अध्ययन जर्मनी की रूहर-यूनिवर्सिटी में बायोसाइकोलॉजी रिसर्च यूनिट के डॉ. सेबस्टियन ऑक्लेनबर्ग और बर्गमैनशिल यूनिवर्सिटी क्लिनिक के डॉ. लारा स्केलेफेक ने किया है।

loading...
Loading...

You may also like

नई नई शादी में होते हैं कई एडजस्टमेंट, जानें लाइफ को बैलेंस करने के तरीके

🔊 Listen This News लाइफ़स्टाइल। कई बार आपको