एसिडिटी को कोसों दूर भगाएगा ये खास योग

- in स्वास्थ्य

आपको बता दें एसिडिटी होने पर मिचली आना, अस्थिरता, उल्टी आदि लक्षण दिखाई देते हैं। एसिडिटी के लिए लोग कई तरह की दवाओं, चूरन आदि का सेवन करते हैं। इसे योगा के माध्यम से भी सही किया जा सकता है। नियमित रूप से इन योगाभ्यासों को करने से चिंता और तनाव दूर होता है और चेहरे पर चमक भी बढ़ जाती है।

यह है तमाम योग 

जानकारी के लिए आपको बता दें ऊष्ट्रासन एक आसन है जो दिमाग को शांत रखने के अलावा रक्त संचार को ठीक रखता है। एसिडिटी से छुटकारा दिलाने में भी इसका अहम योगदान है। यह सांस संबधी समस्याओं और तंत्रिका तंत्र के लिए भी बहुत फायदेमंद है। इसी के साथ नाड़ी शोधन प्राणायाम शरीर को शक्ति प्रदान करने के आलाव तनाव और चिंता को भी दूर करने का काम करता है। यह एसिडिटी और गैस्ट्रिक समस्याओं से निजात दिलाने में मदद करता है

और बिमारियों में है सहायक 

इसी के साथ पेट संबंधी हर समस्या के लिए कपालभाति सबसे ज्यादा लाभकारी आसन है। कपालभाति प्राणायाम मोटापा, पाचन संबंधी समस्या और एसिडिटी को दूर करने में हमारी मदद करता है। वही पवनमुक्तासन आंत संबंधी समस्याओं को दूर करता है जिससे शरीर के सभी अपशिष्ट पदार्थ तथा विषाक्त तत्व बाहर निकल जाते हैं। जिससे पाचन तंत्र सही रहता है। पाचन तंत्र सही रहने का मतलब है कि एसिडिटी भी आपसे दूर ही रहेगी।

Loading...
loading...

You may also like

विश्व थॉयराइड दिवस : पुरूषों की तुलना में महिलाओं में थॉयराइड की संभावना अधिक

🔊 Listen This News नई दिल्ली। एक सर्वे