एसएसपी ने रातों-रात 23 निरीक्षक और 100 उपनिरीक्षक को किया स्थानान्तरित

लखनऊ। अपनी पहुंच और दबदबे के बल राजधानी लखनऊ में वर्षों से जमे बैठे 23 निरिक्षकों और 100 उपनिरिक्षकों को चिन्हित कर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने उनका तत्काल प्रभाव से स्थानान्तरण कर दिया। सोमवार रातों-रात स्थानान्तरण की लिस्ट जारी होते ही पुलिस मकहमें हड़कंप मच गया। एसएसपी ने बताया कि चिन्हित किए गए इंस्पेक्टर और दरोगा नियमानुसार स्थानान्तरणाधीन थे। इनकी वजह से थानों में जरूरत से ज्यादा थी।

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया तमाम बार स्थानान्तरण होने के बावजूद भी नियमों का उल्लंघन करते हुए राजधानी में तमाम निरीक्षक और उपनिरिक्षक जमे बैठे थे। ऐसे इंस्पेक्टरों और दरोगाओं को चिन्हित करने के लिए एसएसपी कलानिधि नैथानी ने मातहतों को निर्देश दिए थे। सोमवार को एसएसपी कलानिधि नैथानी के सामने लिस्ट पेश की गई थी। लिस्ट देखकर एसएसपी के पैरों तले जमीन खिसक गई।

पढे:- अभिजीत मर्डर केस में मां को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा जेल

राजधानी में 25 इंस्पेक्टर और 100 उननिरिक्षक वर्षों से जमे बैठे थे। जबकि उनका पूर्व में ही स्थानान्तरण किया जा चुका था। अपने प्रभाव और ऊंची पहुंच के चलते स्थानान्तरणधीन पुलिस कर्मियों ने अपना ट्रांसर्फर रूकवा लिया था। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने तत्काल कार्रवाई करते हुए रातों-रात स्थानान्तरणधीन 23 इंस्पेक्टर और 100 दरोगाओं के ट्रांसफर्र की लिस्ट जारी कर दी। ट्रांसफर्र लिस्ट जारी होते ही लखनऊ में कब्जा जमाये बैठे इंस्पेक्टरों और दरोगाओं में खलबली मच गई। एसएसपी ने सख्त निर्देश जारी करते हुए कहा कि स्थानान्तरणधीन इंस्पेक्टरों और दरोगा के स्थानान्तरण की कार्रवाई करते हुए उन्हें सूचित किया जाये। उन्होंने बताया कि स्थानान्तरित पुलिस कम्रियों को गैर जनपद या फिर गैर इकाईयों से जोड़ा गया है।

वसूली पर लगेगी लगाम

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कहा कि स्थानान्तरणधीन इंस्पेक्टर और दरोगा लखनऊ छोडऩा नहीं चाह रहे थे। इनकी वजह से थानों व अन्य इकाईयों में जरूरत से ज्यादा तैनाती थी। जिसके चलते सरकारी कार्य भी प्रभावित हो रहा था। उन्होंने दबे लब्जों में कहा कि राजधानी के कई इलाकों में वसूली की शिकायतें भी आ रही थीं। वर्षों से वर्चस्व जमाये बैठे इंस्पेक्टरों और दरोगाओं के स्थानान्तरण से वसूली पर लगाम लगेगी।

loading...
Loading...

You may also like

भगवान हनुमान और अम्बेडकर प्रतिमा हटाये जाने पर ग्रामीण हुए उग्र

लखनऊ। माल इलाके में बिना परमीशन के पंचायत