‘tripal talaak’ बिल अगले सप्ताह राज्यसभा में होगा पेश

Triple-Talaq
Please Share This News To Other Peoples....

नयी दिल्ली।  ‘tripal talaak bill ’ खत्म करने के लिए एक ओर जहां केंद्र सरकार पूरा जोर लगा रही है। इस बिल को लोकसभा से पास करवा लिया है। वहीं दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट द्वारा इसे असंवैधानिक घोषित किये जाने के बाद भी देश में ‘tripal talaak’ के मामले थम नहीं रहे हैं।

ये भी पढ़ें :-#JutaBhejoPakistan, चप्पल चोर को भेजा तोहफ़ा

‘tripal talaak’ पति ने की दहेज की मांग

  • मुरादाबाद में एक महिला को उसके पति ने दहेज के लिए ‘ट्रिपल तलाक’ दे दिया है।
  • वरिशा नाम की महिला ने बताया कि उसके पति ने दहेज की मांग की है ।
  • कहा कि या तो तुम कार लेकर आओ या दस लाख रुपये कैश।
  • अगर तुम ऐसा नहीं कर सकती तो मैं तुम्हें छोड़ दूंगा।

लोकसभा ने तीन तलाक को अवैध करार दिया

  • गुरुवार को  ही कानून मंत्री रविशंकर ने लोकसभा को यह बताया था कि सुप्रीम कोर्ट के ट्रिपल तलाक को बैन किया ।
  • इसके बाद देश भर से सौ तलाक के मामले सामने आये।
  • आज की घटना यह साबित करती है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश का लोगों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।
  • लोकसभा ने तीन तलाक को अवैध करार देने वाले मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक 2017 को मंजूरी दे दी।
  • इसे दंडनीय अपराध की श्रेणी में रखते हुए तीन वर्ष तक कारावास और जुर्माने का प्रावधान किया है।
  • अगले सप्ताह इसे राज्यसभा में पेश किया किया जायेगा।
  • विधेयक पर चर्चा का जवाब देते हुए विधि एवं न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अगर गरीब और त्यक्ता मुस्लिम महिलाओं के पक्ष में खड़ा होना अपराध है।
  • तो ये अपराध हम दस बार करेंगे।

सियासत के चश्मे से नहीं, इंसानियत के चश्मे से देखें

  • हम इसे वोट के तराजू में नहीं तोल रहे और सियासत के चश्मे से नहीं, इंसानियत के चश्मे से देखते हैं।
  • प्रसाद ने कांग्रेस के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि विपक्षी दल का पूरा स्वर भ्रम पैदा करता है।
  • जहां वे समर्थन भी करते हैं और किंतु-परंतु भी करते हैं।
  • वे एक तरफ विधेयक को हड़बड़ी में लाने की बात करते हैं।
  • दूसरी तरफ कहते हैं कि इसे पहले क्यों नहीं लाया गया।
  • वहीं आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने लोकसभा में तीन तलाक के खिलाफ विधेयक पेश किये जाने की निंदा करते हुए।
  • इसे संसद की स्थायी समिति के पास भेजने की अपील की।
  • बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना खलीलउर्हमान सज्जाद नोमानी ने कहा कि बोर्ड को इस बात का बहुत अफसोस है।
  • कहा कि तीन तलाक संबंधी विधेयक को इतनी जल्दबाजी में पेश किया गया।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *