पीड़िता ने कहा मर्दों को मिले सख्त से सख्त सजा

पीड़ितापीड़िता

लखनऊ। लोकसभा में तीन तलाक के बिल को मंजूरी मिलने के बाद राज्यसभा में ये लटका हुआ है। विपक्ष इसे लगातार सलेक्ट कमेटी को भेजने की मांग पर अड़ा हुआ है। वहीं इसकी पीड़िता महिला ने सभी नेताओं से एकजुट होकर इसे आपसी सहमती से पास कराने के अपील की है। तीन तलाक की पीड़िताओं का कहना है कि तलाक देने वाले मर्दों को ज्यादा से ज्यादा सजा देनी चाहिए। क्योंकि अभी भी वे सुधरे नहीं हुए हैं।

पीड़िता ने कहा मर्द अभी भी नहीं सुधरे उन्हें मिले सख्त सजा

  • तीन तलाक की पीडिता वारिशा का कहना है कि तीन तलाक देने वाले मर्दों को सख्त-से-सख्त सजा मिलनी चाहिए।
  • मुरादाबाद की वारिशा के पति ने उसे दहेज़ न मिलने के कारण छोड़ दिया है।
  • उनका कहना है कि तीन तलाक को सुप्रीम कोर्ट ने बैन कर दिया है फिर भी वे नहीं सुधरे हैं।
  • सभी नेताओं को एक जुट होकर इसे पास करवाना चाहिए ताकि ऐसे मुस्लिम मर्दों सख्त सजा मिल सके।
  • वारिशा ने  तीन तलाक बिल का पुरजोर समर्थन करते हुए इसे मुस्लिम महिलाओं के लिए बेहद ही हितकारी बताया है।

कोई जल्दबाजी नहीं कर रही सरकार

  • तीन तलाक की पीड़ित वारिशा का कहना है कि सरकार तीन तलाक बिल को लेकर कोई जल्दबाजी नहीं कर रही है।
  • पीड़िता का कहना है कि केंद्र सरकार का यह कदम बिलकुल सही है गरीब मुस्लिम महिलों को इंसाफ मिलना चाहिए।
  • उन्होंने कहा कि तीन साल की सज कम है इसके लिए और सख्त सजा मिलनी चाहिए।
  • वारिशा ने कहा कि यह मुद्दा धर्म से नहीं, बल्कि महिला के सम्मान से जुड़ा हुआ है।
  • धर्म की आड़ में गलत काम को जायज नहीं ठहराया जा सकता। यह बिल मुस्लिम महिलाओं के हित में है।

राज्यसभा में अटक तीन तलाक बिल

  • लोकसभा में तीन तलाक बिल पास होने के बाद ये राज्यसभा में अटका हुआ है।
  • राज्यसभा में बहुमत न होने के कारण सरकार को ये मुश्किल आ रही है।
  • वहीं बीजेपी के सहयोगी दलों ने भी उसका साथ छोड़ दिया है।
  • विपक्ष की मांग है कि इस बिल में सलेक्ट कमेटी को भेजा जाए।
  • ताकि इसमें तमाम खामियों को दूर किया जा सके।
loading...

You may also like

अखिलेश के मंच पर मुलायम को देख बेचैन हुए शिवपाल, नेता जी के सामने रखा ये प्रस्ताव

लखनऊ। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के मंच पर