त्रिपुरा में बारिश का कहर, साढ़े तीन हजार से ज्यादा परिवार बेघर

त्रिपुरात्रिपुरा

त्रिपुरा।  देश में लम्बे समय तक गर्मी  के कहर के बाद लोगों  पर अब बारिश कहर बरपाना शुरू कर दिया है। त्रिपुरा के ज्यादातर हिस्सों में बीते 24 घंटों से हो रही भारी बारिश की वजह से साढ़े तीन हजार से ज्यादा परिवार बेघर हो गए हैं। बुधवार को सुबह बारिश थम जाने के बावजूद भी कई इलाकों में पानी भरने की वजह से हालात गंभीर बनी हुई है।

पांच सौ से ज्यादा परिवार हुए बेघर

सरकारी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि पश्चिम त्रिपुरा के सदर सब डिवीजन में कई मकानों के पानी भरा हुआ है। वही कुछ मकान ऐसे भी है जो लगातार बढ़ते पानी के स्तर में डूब जाने की वजह से पांच सौ से ज्यादा परिवारों बेघर हो गए है। उन्हें वहां  से निकाल कर छह राहत शिविरों में रखा गया है। फिलहाल राज्य में 89 राहत शिविरों में साढ़े तीन हजार से ज्यादा परिवार रह रहे हैं।

ये भी पढ़े :-बंगला तोड़फोड़ मामला : अखिलेश ने किया प्रेस कांफ्रेंस, योगी सरकार पर जताया गुस्सा 

हावड़ा नदी का जलस्तर खतरे के निशान ऊपर

सब-डिवीजनल मजिस्ट्रेट (सदर) तपन कुमार दास ने बताया कि राजधानी से होकर बहने वाली हावड़ा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से महज कुछ इंच नीचे है। उन्होंने कहा कि मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक अगर दोबारा बारिश हुई तो परिस्थिति गंभीर हो सकती है। बीती रात मलबा साफ करने के बाद असम-अगरतला नेशनल हाइवे को बुधवार सुबह वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया।

loading...
Loading...

You may also like

विधान परिषद सभापति रमेश यादव के बेटे अभिजीत की गला घोंटकर हत्या

लखनऊ। विधान परिषद सभापति रमेश यादव के बेटे