उ.प्र. में लगे 25 हजार होमगार्डों के दैनिक भत्ते का भुगतान जुलाई 2019 से हुआ नही

होमगार्डों दैनिक भत्ता
Loading...

लखनऊ। उत्तर प्रदेश भर में पुलिस के साथ शांति व्यवस्था ड्यूटी में लगे 25 हजार होमगार्डों के दैनिक भत्ते का भुगतान जुलाई 2019 से नही हुआ है। होमगार्डों में भारी आक्रोश है। सात महीने से भुगतान न होने से इन होमगार्डों का परिवार भुखमरी की कगार पर पहुंच गया है। डीजी होमगार्ड ने सूबे के समस्त डीएम और एसपी को निर्देश दिए हैं कि होमगार्डों का भुगतान 15 दिन के भीतर कराएं। होमगार्डों के जल्द भुगतान के सम्बंध में प्रमुख सचिव होमगार्ड और डीजीपी से भी मदद मांगी है।

मस्टररोल की जांच जल्द करें

डीजी आनंद कुमार ने बुधवार को विभागीय डीआईजी के अलावा प्रदेश के समस्त मण्डलीय और जिला कमाण्डेंट से कहा है कि वह डीएम और एसपी से संपर्क कर होमगार्डों के मस्टररोल की जांच जल्द कराकर भुगतान कराएं। शासन ने होमगार्डों के भुगतान का बजट पुलिस विभाग को दे दिया है। लखनऊ व नोयडा में बीते साल नवम्बर में होमगार्डों के फर्जी मस्टररोल के जरिए भत्ता घोटाला उजागर होने के बाद शासन ने भुगतान रोक दिया था। मस्टररोल की दोबारा जांच के बाद भुगतान के निर्देश दिए थे।

शासन ने हटाया था इन्हें

उच्चतम न्यायालय ने बीते साल अक्तूबर में एक फैसले में प्रदेश सरकार को होमगार्डों के दैनिक भत्ता 500 रुपए से बढ़ाकर 702 रुपए किए जाने आदेश पारित किया था। इस फैसले के बाद गृह विभाग ने पुलिस के साथ ड्यूटी में लगे 25 हजार होमगार्डों की ड्यूटियां खत्म करने का आदेश जारी कर दिया था। इससे खफा होमगार्डों ने प्रदेश भर में धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया था। राजनीतिक पार्टियों के समर्थन में आने के बाद हरकत में आए शासन ने इन्हें दोबारा ड़्यूटी पर ले लिया।

Loading...
loading...

You may also like

खाना बनाने जा रहा था कपल, शिमला मिर्च से निकला मेढ़क!

Loading... 🔊 Listen This News सोचिए कैसा लगेगा