केंद्रीय मंत्री बोले- हमारी पार्टी राजनीति के लिए है, न कि समाज सेवा करने के लिए

केंद्रीय मंत्रीकेंद्रीय मंत्री

बेंगलुरु। केंद्रीय मंत्री व भाजपा सांसद अनंत कुमार हेगड़े अक्सर अपने विवादित बयानों के लिए सुर्ख़ियों में रहते हैं। एक बार फिर वह अपने बयान के लिए विवादों में हैं। हाल ही में एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी राजनीति के लिए हैं न कि समाज सेवा के लिए साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि पत्रकार इसे समझ सकते हैं। हालांकि वे चाहते हैं। वहीं जेडीएस की तरफ से इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिली है। पार्टी के प्रवक्ता आर्यगण ने कहा कि मंत्री का बयान उनकी पार्टी की संस्कृति दिखाता है और यह पूरी तरह से सच है।

केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े का पूरा बयान

जानकारी के मुताबिक केंद्रीय मंत्री व भाजपा सांसद अनंत कुमार हेगड़े गुरूवार को कर्नाटक के करवार जिले में एक कार्यक्रम में पहुंचे थे इस दौरान उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आपने हमारी पार्टी को वोट दिया है। और आपकी पसंद की पार्टी सरकार बनाती है, यह आपका अधिकार है। कुछ कहते हैं कि हम राजनीति करते हैं, लेकिन हम यहां राजनीति में हैं केवल, अगर नहीं, तो हम राजनीति में क्यों प्रवेश करेंगे। राजनीति की वजह से मैं एक सांसद बन गया हूं।

हेगड़े बस यही नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि हम राजनीति को छोड़कर कुछ भी नहीं कर सकते हैं, केवल यही हमारे द्वारा संभव है। हम सामाजिक सेवा करने के लिए यहां नहीं हैं। हम ‘ राजनीति करने के लिए यहां फिर से करें, इसलिए हम केवल यही करते हैं। पत्रकार इसे समझ सकते हैं हालांकि वे चाहते हैं।

पढ़ें:- मायावती के बेहद करीबी रहे नेता ने कहा, BSP सुप्रीमो ने अंबेडकर-कांशीराम के मिशन को बेचा 

जेडीएस ने बयान पर दी तीखी प्रतिक्रिया 

वहीं हेगड़े के इस बयान की कर्नाटक की सत्ताधारी पार्टी जेडीएस ने निंदा की। पार्टी के प्रवक्ता आर्यगण ने कहा कि केंद्रीय मंत्री का बयान उनकी पार्टी की संस्कृति दिखाता है और यह पूरी तरह से सच है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा राज्य और देश भर में सांप्रदायिक राजनीति खेल रही है। वे सामाजिक कार्य करने के लिए यहां नहीं हैं और न ही यह आरएसएस की विचारधारा का हिस्सा है।

जेडीएस प्रवक्ता ने कहा कि वे जो भी करते हैं वह गंदा है सांप्रदायिक राजनीति। मुझे नहीं पता कि प्रधान मंत्री मोदी ने उन्हें कैबिनेट में कैसे शामिल किया और क्यों उन्होंने इस तरह के विवादों को उठाने के बावजूद उन्हें हटाया नहीं है।

बता दें कि हेगड़े अक्सर अपने बयानों को लेकर विवादों में रहते हैं। इससे पहले उन्होंने कथित तौर पर भड़काऊ बयान देते हुए कहा था कि आने वाले दिनों में संविधान बदल दिया जाएगा। जिसको लेकर काफी विवाद हुआ। इसके बाद भाजपा को स्पष्टीकरण देने के लिए मजबूर होना पड़ा।

Loading...
loading...

You may also like

Lok Sabha Election 2019 Result : तीन राज्यों की जीत को भुनाने में काँग्रेस नाकाम

🔊 Listen This News नई दिल्ली। दिसंबर 2018