उन्नाव गैंगरेप: एसपी को मैनेज कर रहे थे आरोपी बीजेपी विधायक

बीजेपी विधायक
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। उन्नाव नाबालिग के साथ गैंग रेप के मामले में एक नया खुलासा हुआ है। इस मामले में आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर द्वारा एसपी को मैनेज करने की कोशिश की बात सामने आयी है। जिससे बीजेपी विधायक की मुश्किलें और भी बढ़ सकती हैं। दरअसल इस मामले में जांच कर रही सीबीआई के हाथ पीड़िता के पिता को फर्जी जेल भेजने से सम्बंधित सबूत हाथ लगे हैं।

पढ़ें:- आरटीआई: कब आएंगे खाते में 15 लाख, तो पीएमओ से मिला ये जवाब 

बीजेपी विधायक ने एसपी पुष्पांजलि से की थी मुलाकात

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर ने पीड़िता के पिता की पिटाई के मामले में भाई अतुल सिंह के खिलाफ मुकदमा न दर्ज करने के लिए उन्नाव एसपी पुष्पांजलि से पैरवी की थी। वहीं उनकी सिफारिश पर बीजेपी अतुल सिंह के खिलाफ केस दर्ज नहीं किया गया था। बताया जा रहा है कि सेंगर भाई पैरवी करने उसी दिन पहुंचे थे, जिस दिन पीड़िता के पिता की पिटाई की गई थी। एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में भी इस बात का जिक्र किया है। घटना के ठीक बाद पहले उन्होंने एसपी से फोन पर बात की और एफआईआर दर्ज न करने की पैरवी की। उसके बाद शाम को स्थानीय ब्लॉक प्रमुख के साथ भाई की पैरवी करने के लिए खुद एसपी आवास पहुंच गए।

पढ़ें:- लखनऊ: विधानसभा के सामने शिक्षिका ने किया आत्मदाह का प्रयास, देखें वीडियो 

मुक़दमा दर्ज न करने का बनाया गया दबाव

रिपोर्ट में पता चला है कि बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर ने भाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज न करने के लिए एसपी पर दबाव बनाया था। जिसके चलते पुलिस ने पीड़िता के पिता को ही उल्टा जेल में डाल दिया था। यही नहीं जब पीड़िता के परिजन मुकदमा लिखाने गए तो उन्हें भगा दिया गया था। हालांकि बाद में जिलाधिकारी और लखनऊ के अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद मुकदमा दर्ज किया तो गया लेकिन इसमें विधायक के भाई का नाम दर्ज नहीं हुआ।

पढ़ें:- सपा छोड़कर बीजेपी में गए एमएलसी इस्लाम से हुए बेदखल, बचाव में उतरे आज़म खां 

Related posts:

कुंवारा रहना बेहद कठिन, विश्वामित्र फंस चुकें मेनका के रूप जाल में : अन्ना हजारे
यूपी ट्रैफिक पुलिस की वर्दी बदली , पैंट का रंग हुआ नीला
आग से झुलसी विवाहिता की मौत, शव छोडक़र भागे ससुरालवाले
राजिम कुंभमेला : महिलओं ने शंख बजाकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड
अयोध्या को मक्का बनाने का षड्यंत्र रच रहे है श्री श्री रविशंकर
फुल चार्ज न करें मोबाइल की बैटरी, नहीं तो होगा ये नुकसान
सीबीएसई बोर्ड : पांच मार्च से 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं शुरू
दरभंगा : कार्यकर्ता ने मोदी के नाम पर रखा चौक का नाम, नाराज विरोधियों ने काटी गर्दन
अम्बेडकर के नाम बदलने को लेकर भड़के अखिलेश, सीएम योगी को दे डाली नसीहत
अखिलेश यादव का बड़ा बयान, कहा- गठबंधन का मकसद बीजेपी को हराना नहीं
BJP विधायक ने भरे मंच पर सीएम को पहनानी चाहिए सोने की चेन, फिर हुआ कुछ ऐसा
जवाबदेही से बचने के लिये नर्स ने  20 मरीजों को धीमा जहरीला इंजेक्शन देकर मार डाला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *