उन्नाव रेप पीड़िता के पिता की मौत के मामले में कुलदीप सेंगर के खिलाफ आरोप तय

कुलदीप सेंगर के खिलाफ आरोप तयकुलदीप सेंगर के खिलाफ आरोप तय
Loading...

नई दिल्ली। उन्नाव रेप केस में पीड़िता के पिता को झूठे आर्म्स केस में फंसाने और पुलिस हिरासत में उनकी मौत के मामले में बाहुबली विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत अन्य के खिलाफ दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने आरोप तय कर दिए हैं। कोर्ट ने मंगलवार को सुनवाई करते हुए प्रथमदृष्टया पाया कि मामले में बड़ी साजिश रची गई है। कोर्ट के मुताबिक पुलिस मौके पर पहुंची थी, लेकिन उसने कोई हस्तक्षेप नहीं किया। इसके साथ ही पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक पीड़िता के पिता के शरीर पर 14 गंभीर चोट के निशान थे।

चंद्रिमा शाहा विज्ञान अकादमी की पहली महिला अध्यक्ष, 2020 में संभालेंगी कार्यभार

तीन पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी आरोप तय

मामले में कुलदीप सिंह सेंगर के अलावा माखी पुलिस थाने के तत्कालीन प्रभारी अशोक सिंह भदौरिया, सब-इंस्पेक्टर कामता प्रसाद सिंह, कॉन्स्टेबल आमिर खान, बाहुबली विधायक कुलदीप के भाई अतुल सिंह सेंगर समेत चार अन्य को आरोपी बनाया गया था। अब सभी आरोपियों के खिलाफ पीड़िता के पिता को आर्म्‍स एक्ट के झूठे मामले में फंसाने का केस चलेगा और सीबीआई की चार्जशीट के मुताबिक गवाही होगी।

कोर्ट ने प्रथमदृष्टया पाया था कि सेंगर के खिलाफ आरोप तय करने के लिए साक्ष्य मौजूद

इससे पहले दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने उन्नाव रेप केस में शुक्रवार को विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ पीड़िता से रेप के मामले में आरोप तय कर दिए थे। कोर्ट ने प्रथमदृष्टया पाया था कि सेंगर के खिलाफ आरोप तय करने के लिए साक्ष्य मौजूद हैं। कोर्ट ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर गैंगरेप और पॉस्को एक्ट 120 बी के तहत आरोप तय किए हैं।

बता दें कि अप्रैल, 2017 में नाबालिग लड़की ने उन्नाव के बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर रेप का आरोप लगाया था। मामला सामने आने के बाद सूबे की योगी सरकार ने इसकी सीबीआई जांच की सिफारिश की थी।

Loading...
loading...

You may also like

छेड़छाड़ मामले में 9 दिन दाखिल हुई चार्ज शीट, 21 दिन में सुनाई सजा, तीन साल की कैद

Loading... 🔊 Listen This News कानपुर। कानपुर जिले