Main Sliderउत्तर प्रदेशक्राइमख़ास खबर

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से उन्नाव पहुंचा दुष्कर्म पीड़िता का शव

उन्नाव। दुष्कर्म पीड़िता का शव शनिवार देर शाम दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र उसके गांव लाया गया। रविवार को उनका अंतिम संस्‍कार किया जाएगा। पीडिता का निधन शुक्रवार रात 11.40 बजे दिल का दौरा पड़ने से हुआ था। गुरुवार देर शाम 95 फीसद जली अवस्था में उन्नाव की पीड़िता को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल की बर्न यूनिट में भर्ती कराया गया था।


पीड़िता के भाई ने अपने बयान में कहा ‘ हम अपनी बहन का शव नदी में नहीं बहाएंगे। मेरी बहन अग्निपरीक्षा पहले ही पास कर चुकी है, इसलिए हम अपनी बहन को धरती मां की गोद में सुलाएंगे। यानी दफन करेंगे।’ बता दें कि शव का पोस्टमार्टम हो चुका है। शव को दफनाने के लिए सड़क मार्ग से उन्नाव लाया गया है।

पीड़िता का इलाज करने वाले बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. शलभ कुमार ने बताया कि रात 11.10 बजे पीड़ि‍ता को दिल का दौरा पड़ा और 11.40 पर सांस टूट गई। इससे पूर्व दिन में अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सुनील गुप्ता ने बताया था कि ऐसे गंभीर मामलों में इलाज बहुत मुश्किल होता है। गुरुवार रात साढ़े आठ बजे पीड़िता बात कर पा रही थी। वह अस्पताल में मौजूद अपने बड़े भाई से पूछ रही थी कि भइया क्या में बच जाऊंगी, मैं जीना चाहती हूं। आरोपितों को छोड़ना नहीं है। इस दौरान उसे सांस लेने और बोलने में काफी तकलीफ भी हो रही थी।

loading...
Loading...
Tags