लखनऊ: डीजीपी ओपी सिंह ने किया UP-100 और GRP इमरजेंसी सेवाओं का उद्घाटन

डीजीपी ओपी सिंह

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने जीआरपी मुख्यालय, इंदिरा भवन, में UP-100 और जीआरपी की इमरजेंसी सेवाओं को एकीकृत कर जीआरपी मुख्यालय में कंट्रोल रूम का उद्घाटन किया। कार्यक्रम में डीजीपी ओपी सिंह के साथ एडीजी रेलवे संजय सिंघल, एडीजी UP-100 आदित्य मिश्रा, आईजी जीआरपी विजय प्रकाश,एसपी जीआरपी सौमित्र यादव, समेत पुलिस के तमाम आलाधिकारी मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें:- दबंग प्रापर्टी डीलर ने किसान के खेत पर किया कब्जे का प्रयास 

एडीजी UP-100 आदित्य मिश्रा ने UP-100 और जीआरपी की इमरजेंसी सेवाओं के विस्तृत जानकारी दी। वही एडीजी जीआरपी संजय सिंघल ने कहा. आज बहुत सुंदर क्षण आया है जब जीआरपी के 1250 थाने है जिसमे कुल 16 सौ ट्रेनें गुजरती है जिसमे लगभग 16 लाख यात्री आवागमन करते है साथ ही 43 चौकिया भी जीआरपी द्वारा बनाई गई है। कहा कि अब आम लोग के सिर्फ 100 नम्बर डायल करने पर पुलिस मेडिकल फायर सभी सेवाओं को UP-100 मुहैया करायेगा।

ये भी पढ़ें:- राम मंदिर न बनने से हिन्दू समुदाय में आक्रोश: चम्पत राय 

एकीकृत सेवा की जानकारी देते हुये डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि पिछले कुछ महीनो से हम लोगों ने काम को आगे बढ़ाया है। UP-100 को फायर के साथ एम्बुलेंसेस के साथ इंटीग्रेट किया,साथ ही महिला सम्मान प्रकोष्ठ को कैसे इंटीग्रेट करें इसपर विचार चल रहा है। उन्होंने कहा होने वाले कुम्भ मेले में कैसे इसे इस्तेमाल किया जाएगा इसपर भी चर्चा चल रही है।उन्होंने ये भी कहा जनता को एक परिवार की तरह रखकर सच्चे पुलिस मित्र की कल्पना हो सकती है। किसी लूट की एक घटना किसी व्यक्ति विशेष के प्रति नहीं बल्कि पूरे वातावरण को प्रभावित करती है जिसे रोकने के लिये इंटीग्रेट से बढिय़ा और कोई माध्यम नहीं हो सकता रिस्पॉन्स आज के जमाने में अगर स्मार्ट नहीं हुआ तो आपका सिस्टम बवससंचेम कर जाएगा।

ये भी पढ़ें:- डीजीपी ओपी सिंह ने दिए बैंक में चेकिंग के निर्देश 

जीआरपी UP-100 के योगदान का पूरा फायदा उठाए।उन्होंने कहा एक ही बिल्डिंग में नए भवन में जहां पुलिस के सभी मुख्यालय एक ही जगह हो और हम अपनी ऊर्जा का अच्छा इस्तेमाल कर पाएं उस दिन का इंतजार है। अंत मे उन्होंने कहा कि इस सुविधा से अब चलती ट्रेन में भी तुरंत पुलिस सहायता मिल सकेगी। UP-100 और जीआरपी आपातकालीन सेवाओं को एक किया गया है। 100 डायल करने पर अब कंट्रोल रूम से सीधे सूचना जीआरपी थानों को जाएगी। पुलिस,फायर,मेडिकल की सुविधा सीधे ट्रेन में यात्रियों को मिलेगी। UP के सभी 65 थानों की डिजिटल बाउंड्री बनाई गई। ट्रेन में चल रहे यात्री के 100 नंबर पर फोन करते ही कंट्रोल रूम को उसकी लोकेशन मिल जाएगी और कंट्रोल रूम तुरंत संबंधित जीआररपी थाने को सूचना देगा।

loading...
Loading...

You may also like

‘माल्याजी’ को चोर कहना गलत होगा वाले बयान पर घिरे गडकरी, फंसने पर कही ये बात

नई दिल्ली। देश में नरेंद्र मोदी सरकार के