टल सकती है UPTET 2018 की परीक्षा, जानिए के पीछे की वजह

UPTET 2018

लखनऊ। प्रदेश में अगले महीने 4 नवंबर को होने वाली UPTET 2018 की परीक्षा दो सप्ताह के लिए टल सकती है। दरअसल सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने TET के लिए सरकार से समय मांगा है। इसके पीछे की वजह बीटीसी 2015 बैच के प्रशिक्षुओं का दबाव और चार नवंबर को ही राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा (एनटीएसई) होना बताया जा रहा है।

UPTET 2018 की परीक्षा कार्यक्रम को संपन्न कराने की चुनौती

बता दें कि इसी महीने 8 अक्टूबर को BTC-2015 के चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा शुरू होने के पहले ही सभी पेपर लीक हो गए थे जिसके बाद परीक्षा को निरस्त करना पड़ा था। इस कारण दिसंबर में प्रस्तावित 95 हजार शिक्षकों की भर्ती से BTC-2015 बैच के 72668 प्रशिक्षुओं के बाहर होने का खतरा उत्पन्न हो गया।

वहीं परीक्षा निरस्त होने से नाराज प्रशिक्षुओं को सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को गोरखपुर में आश्वासन दिया है कि उनकी परीक्षा जल्द कराई जाएगी। सीएम के आश्वासन के बाद इस मसले पर शुक्रवार शाम चार बजे से लखनऊ में बेसिक शिक्षा विभाग के अफसरों की बैठक बुला ली गई है।

सम्बंधित खबर पढ़ें:- लखनऊ : पेपर लीक को लेकर BTC छात्रों ने राज्य शैक्षिक मुख्यालय का किया घेराव

माना जा रहा है कि बैठक में BTC-2015 चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा जल्द कराने पर निर्णय हो सकता है। यदि ऐसा होता है तो TET टालना पड़ेगा क्योंकि एक साथ दोनों परीक्षाओं की तैयारी कराना संभव नहीं होगा। TET टलने से BTC प्रशिक्षुओं को राहत मिलेगी क्योंकि परीक्षा देर से होने पर शिक्षक भर्ती में शामिल होने की संभावना बढ़ जाएगी।

loading...
Loading...

You may also like

विधानसभा नतीजे: तेलंगाना में कांग्रेस ने EVM से छेड़छाड़ की जताई आशंका

हैदराबाद। तेलंगाना में सत्तारूढ़तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) राज्य