विजय माल्या को कानूनन भगोड़ा अपराधी घोषित कराने अदालत पहुंचा ईडी

विजय माल्या
Please Share This News To Other Peoples....

नयी दिल्ली। भगोड़े आर्थिक अपराधियों पर नकेल डालने के लिए हाल में बने नये कानून के तहत सरकार ने पहला कदम शराब कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ उठाया है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने विजय माल्या को इस कानून के तहत  भगोड़ा अपराधी घोषित करने और उसकी 12,500 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त करने के लिए मुंबई में अदालत का दरवाजा खटखटाया है।

ये भी पढ़ें:इस उपाय से आपका स्मार्टफोन रहेगा सुरक्षित, नहीं हो सकता है ब्लास्ट

विजय माल्या की सारी सम्पति जब्त करने का मांगा अधिकार

अभी एक अध्यादेश के जरिये लागू इस नये कानून के तहत सरकार को कर्ज नहीं चुकाने वाले भगोड़ों की सभी संपत्ति जब्त करने का अधिकार है। माल्या के खिलाफ अदालत में दाखिल इस अर्जी में भारतीय एजेंसियों से बचकर विदेश में रह रहे शराब कारोबारी और उसकी कंपनियों की करीब 12,500 करोड़ रुपये की संपत्ति को तुरंत जब्त करने की अनुमति मांगी गयी है। इसमें चल-अचल दोनों तरह की संपत्ति शामिल है।

माल्या ने  अपने ऊपर लगे आरोपों को लंदन की अदालत में दी है चुनौती

प्रवर्तन निदेशालय ने धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत दायर पहले किये गये दो आरोप पत्रों में प्रस्तुत साक्ष्यों के आधार पर माल्या को भगोड़ा अपराधी घोषित करने की अदालत से मांग की है। माल्या ने मनी लॉन्ड्रिंग  धनशोधन) निवारण कानून के तहत अपने खिलाफ लगाये गये आरोपों को लंदन की अदालत में चुनौती दी है।

ये भी पढ़ें:-बेटी इवांका पर ब्रेस्ट इम्प्लांट के लिए प्रेशर डालते थे ट्रंप

बैंकों का 9,000 करोड़ रुपये लेकर विदेश फरार हो चुके हैं माल्या

भारत माल्या को वापस लाने का कानूनी प्रयास कर रहा है। सरकार चाहती है कि विभिन्न बैंकों का 9,000 करोड़ से अधिक का कर्ज लेकर फरार हुए माल्या को भारत लाकर उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाये। पीएमएलए के तहत कानून की मौजूदा प्रक्रिया के अनुसार, प्रवर्तन निदेशालय मामले की सुनवाई खत्म होने के बाद ही संपत्तियों को जब्त कर सकती है, जिसमें आमतौर पर कई वर्ष लगते हैं।

Related posts:

निकाय चुनाव: इन जिलों में होगी दूसरे चरण की वोटिंग
सर्वे: गुजरात में बीजेपी के हाथ से कांग्रेस छीन सकती है सत्ता
पीएम नरेन्द्र मोदी से माफ़ी और स्पष्टीकरण की मांग
बेटे की हत्‍या कर मां ने शव को जलाया
ईरानी राष्ट्रपति रूहानी और पीएम मोदी ने नौ समझौते पर किये हस्ताक्षर
अखिल का स्वर्ण पर निशाना, मनु पदक से चूकीं
दलित प्रेम की सच्चाई आई सामने, राहुल के अनशन में कांग्रेसियों ने खाए छोले-भटूरे
अखिलेश यादव ने नहीं पूरा किया अपना वादा, आर्थिक मदद का दिया था आश्वासन
पत्रकारिता मिशन,व्यसन और प्रोफेशन चरणों से होकर गुजरी : प्रो. सूर्य प्रसाद दीक्षित
ज़िन्दगी से जीत के संघर्ष की गाथा “सूरमा” का ट्रेलर हुआ रिलीज
अखिलेश यादव ने तोड़ दी चुप्पी, बताया आखिर क्यों नहीं बनना चाहते हैं प्रधानमंत्री
पीएम मोदी ने मध्यप्रदेश पर की तोहफों की बारिश, इन-इन परियोजनाओं का किया लोकार्पण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *