विजयवर्गीय का पूर्व पीएम मनमोहन सिंह पर निशाना, बोला- “आप रिमोट से क्यों चले”

इंदौर: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए देश पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के इंदौर आगमन पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने उनसे एक सवाल पूछा है। जिसमें विजयवर्गीय ने कहा, मैं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से पूछना चाहता हूं कि वे पीएम बनने से पहले अच्छे अर्थशास्त्री थे, लेकिन पीएम बनने के बाद वह अपने मन से काम क्यों नहीं कर पाए। पीएम आप रिमोट से क्यों चलते थे।’ उन्होंने कहा कि जब नरेंद्र मोदी पीएम बने तो देश की अर्थव्यवस्था नीचे से 5वें स्थान पर थी। इससे पहले अटल बिहारी वाजपेयी पीएम थे तब देश की अर्थव्यवस्था कुछ और थी। आज हम दुनिया की प्रमुख 6 अर्थव्यवस्थाओं में से एक है।’

ये भी पढ़ें:- सीपीएम ने तालिबान से की संघ,RSS आतंकियों की तरह कर रहा बर्ताव 

कैलाश ने ये भी कहा, ‘मैं मनमोहन सिंह से पूछना चाहता हूं कि उन्होंने प्रधानमंत्री रहते हुए अपनी मर्जी से फैसले क्यों नहीं लिए? क्या आप रिमोट थे। क्या आप असफल पीएम के साथ असफल अर्थशास्त्री भी थे। सबसे ज्यादा मनमोहन सरकार में बैंक लोन दिया गया, जिन्हें बैंक का लोन चुकाने की हिम्मत भी नहीं थी ऐसे लोगों को लोन दिया गया।’

ये भी पढ़ें:- राहुल ने बोली ये बात, पीएम मोदी ने नोटबंदी कर किसानों की तोड़ी कमर

भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि मनमोहन सिंह के सचिव कारोबारियों को लोन दिलाने के लिए बैंकों को फोन करते थे, पत्र लिखते थे। 11 लाख करोड़ का घोटाला मनमोहन सरकार में हुआ था। मनमोहन सिंह जवाब दें कि इसका जिम्मेदार कौन है। विजयवर्गीय ने कहा, ‘मैं मनमोहन सिंह से पूछना चाहता हूं कि अपने पीएम पद पर रहते हुए उन्होंने सोनिया और राहुल गांधी के इशारे पर फैसले क्यों लिए? आपके कार्यकाल में देश की अर्थव्यवस्था नीचे गई। जो भ्रष्टाचार हुआ उसकी जांच कराई जा रही है।’

ये भी पढ़ें:- उत्तराखंड निकाय चुनाव: निर्दलीय उम्मीदवारों ने बीजेपी, कांग्रेस को चखाया करारी हार का स्वाद 

सुषमा स्वराज के लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने के ऐलान पर विजयवर्गीय ने कहा कि उन्होंने अपने स्वास्थ्य कारणों के चलते ऐसा कहा है। अगर पार्टी उन्हें चुनाव लड़ने या कोई और काम सौंपेगी तो वह जरूर उसे करेंगी। 2003 में मध्य प्रदेश सरकार का बजट 21 हजार करोड़ था, अभी 2 लाख करोड़ है। उस समय भी टैक्स जमा होता था, लेकिन सरकार की जेब में नहीं आता था। नेताओं और अधिकारियों की जेब में जाता था। सरकार के खजाने में 35% टैक्स बढ़ा है।

ये भी पढ़ें:- सपा, बसपा और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेके अखिलेश ने दिया सटीक जवाब 

सवर्णों के दल सपाक्स के MP चुनाव में उतरने पर विजयवर्गीय ने कहा कि इससे भाजपा को नहीं समाज को नुकसान होगा। ये समाज को बांटने काम कर रही है। ऐसे बिंदुओं पर राजनीति नहीं करनी चाहिए। हमारा कांग्रेसियों और राहुल गांधी पर बहुत प्यार है। हम चाहते है राहुल इसी तरह नेतृत्व करते रहें और मोदी PM बनते रहेंगे। पीएम पर किये जाने वाले हमले कांग्रेस के संस्कारों और संस्कृति का पता चलता है। गलत शब्द का इस्तेमाल करने वालों की बदनामी होती है।

loading...
Loading...

You may also like

महिलाओं के खिलाफ हो रहे भेदभाव से देश का विकास प्रभावित- UNICEF

 नई दिल्ली। UNICEF के अनुसार भारत में महिलाओं