ख़ास खबरखेलराष्ट्रीय

वकार यूनिस से कहा था- ‘मैं कुंबले की गेंद पर नहीं आउट होऊंगा’

नई दिल्ली। पाकिस्तान क्रिकेट टीम 1999 में भारत दौरे पर आई थी। दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर दो मैचों की टेस्ट सीरीज का आखिरी टेस्ट खेला जा रहा था। पाकिस्तान सीरीज में 1-0 से आगे थे और उनकी नजर सीरीज में 2-0 से क्लीनस्वीप पर थी। दिल्ली में खेले गए उस टेस्ट मैच में अनिल कुंबले ने दूसरी पारी में इतिहास रचते हुए 10 विकेट लिए थे।

उस समय पाकिस्तान के कप्तान वसीम अकरम थे। अकरम ने इस टेस्ट मैच को लेकर कुछ अहम बातें कही हैं। उन्होंने कहा कि मैंने वकार से कहा था कि तुम अपने शॉट्स खेलो मैं कुंबले को अपना विकेट नहीं दूंगा। अकरम का प्लान इस मैच में फेल हुआ था और वो भी कुंबले का ही शिकार बने थे।

आकाश चोपड़ा ने यूट्यूब चैनल पर वसीम अकरम का इंटरव्यू लिया। अकरम के लिए कहा जाता है कि वो चाहते थे कि कुंबले 10 विकेट ना ले सकें, इसके लिए वो किसी और गेंदबाज की गेंद पर आउट हो जाएं। इसको लेकर जब आकाश चोपड़ा ने अकरम से पूछा तो उन्होंने कहा, ‘नहीं, ऐसा करना खेल-भावना के खिलाफ होता।

मैंने वकार यूनिस से कहा था कि तुम अपना नॉर्मल क्रिकेट खेलो, मैं अनिल कुंबले की गेंद पर आउट नहीं होऊंगा। कप्तान के तौर पर मैंने वकार से कहा था कि वो अपना नैचुरल क्रिकेट खेलें और जवागल श्रीनाथ की गेंद पर शॉट्स खेलें। यह कुंबले और भारत के लिए बड़ा दिन था।’

पाकिस्तान को उस मैच में 212 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। भारत ने पहली पारी में 252 रन बनाए, जवाब में पाकिस्तान ने पहली पारी में महज 172 रन बनाए। भारत की दूसरी पारी 339 रनों पर सिमटी। पाकिस्तान को जीत के लिए, 420 रनों का लक्ष्य मिला। पाकिस्तान ने 100 रन बिना विकेट गंवाए बना भी लिए थे। शाहिद अफरीदी 41 रन बनाकर आउट हुए, 101 रन पर पाकिस्तान ने पहला विकेट गंवाया और फिर 106 रन के अंदर बाकी के सभी विकेट गिर गए।

loading...
Loading...