यूपी में जानलेवा प्रदूषण का कहर, प्रदेश के 5 शहर टॉप पर

Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। यूपी  में जानलेवा प्रदूषण थमने का नाम नहीं ले रहा है। तमाम सरकारी दावों और कोशिशों के बीच स्थिति ये है कि गुरुवार को देश के सर्वाधिक प्रदूषित शहरों में यूपी के 5 शहर टॉप पर हैं।

देश के पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की नेशनल एयर क्वालिटी इंडेक्स

  • गुरुवार को राजधानी लखनऊ समेत वाराणसी, गाज़ियाबाद, कानपुर, और नोयडा सबसे प्रदूषित शहर हैं।
  • स्थिति ये है कि 457 एक्यूआई के चलते वाराणसी देश में सबसे प्रदूषित शहर बन गया है।
  • वहीं गाजियाबाद 449 एक्यूआई के साथ देश का दूसरा सबसे प्रदूषित शहर है।
  • इसके अलावा कानपुर में एक्यूआई 432 आया है।
  • हीं राजधानी लखनऊ में 428 एक्यूआई के चलते ये देश का चौथा सबसे प्रदूषित शहर है।
  • एनसीआर क्षेत्र में आने वाले प्रदेश के नोएडा में 408 एक्यूआई आया है।
  • वायु प्रदूषण में सबसे खतरनाक स्तर 400 एक्यूआई के बाद माना जाता है।
  • ऐसा नहीं है कि इस खतरनाक स्थिति से सभी अनजान है।
  • यूपी विधानसभा में उठे प्रदूषण को रोकने के लिये उठाये गये,
  • कदमों से जुड़े सवाल पर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जवाब देना पड़ा।

ये भी पढ़े :दिल्ली प्रदूषण: रोकथाम NGT संतुष्ट नहीं, आज सुनवाई 

यूपी सरकार की तरफ से दिए गए निर्देश

  • संबंधित जिलों के डीएम बैठक कर विभागवार जिम्मेदारी सौपें।
  • नगर निगम मुख्य मार्गों पर कूड़ा जलाने पर रोक लगाए साथ ही जल-छिड़काव के निर्देश।
  • लखनऊ मेट्रो कार्पोरेशन को निर्माण स्थलों पर रात्रि में स्वीपिंग और जल छिड़काव के निर्देश।
  • जिला प्रशासन द्वारा आतिशबाजी पर पूरी तरह रोक लगाने के निर्देश।
  • जिला कृषि अधिकारी को कृषि अपशिष्टो को जलाने से रोकने के निर्देश, अर्थ दंड भी लगा सकते हैं।
  • फायर डिपार्टमेंट को मोटर फायर इंजन से शहर के विभिन्न मार्गों पर जल-छिडकाव के निर्देश।
  • यूपी परिवहन निगम में बिना प्रदूषण प्रमाण पत्र वाली बसों के संचालन पर रोक।
  • सम्भागीय परिवहन अधिकारी को 10 वर्ष पूराने डीजल और 15 वर्ष पुराने पेट्रोल वाहनों पर रोक के निर्देश।
  • एलडीए, आवास विकास परिषद को कार्य क्षेत्र पर उड़ने वाली धूल रोकने को ग्रीन नेट से ढकने के निर्देश।
  • राज्य कृषि उत्पादन मंडी परिषद को मंडियों में कूड़ा जलाने पर रोक, जल छिडकाव के निर्देश।
  • प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को वायु प्रदूषणकारी उद्योगों का निरीक्षण करने के निर्देश।

 

Related posts:

बिजली विभाग के बाबू का गेस्ट हाउस में मिला शव
नॉर्थ कोरिया के तानाशाह ने अमेरिका को एटमी हथियारों से तबाह कर देनें की दी धमकी
मोहनलालगंज सीएचसी के डॉक्टरों की मनमानी, प्रसूताओं व मरीजों रेफर करने का खेल
INS Karanj स्वदेशी पनडुब्बी लांच, चीन और पाकिस्तान की बढ़ी मुश्किलें
सीडीसीटी: कैंसर का मुख्य कारण है कोशिका की असामान्य वृद्धि
एसएससी परीक्षा घोटाले की आंच पहुंची लखनऊ, छात्रों ने  किया प्रदर्शन  
रोहनिया-इटौरा ग्राम पंचायत की आवास योजना में धड़ल्ले से चल रहा भ्रष्टाचार...
मायावती के करीबी रहे अफसर का आरोप, बसपा सरकार ने एससी-एसटी एक्ट को कमजोर किया
नेपाल: बुद्ध जयन्ती पर लुम्बिनी में 15 देशों के प्रतिनिधि लेंगे हिस्सा
कृषि उपज से बिस्कुट बनाने पर किसानों को मोदी ने सराहा
नशे में धुत युवक ने वृद्घ से किया दुष्कर्म, गुप्तांग में डाला सरिया, गिरफ्तार
यूपी के शासकीय विभागों में लागू की जायेगी ई-आफिस प्रणाली

One thought on “यूपी में जानलेवा प्रदूषण का कहर, प्रदेश के 5 शहर टॉप पर”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *