हम चाइना से मेडल लेकर आएंगे, चाइना ने 32 साल लिए हम इससे कम समय लेंगे : केजरीवाल

Loading...

नई दिल्‍ली। हम चाइना से मेडल लेकर आएंगे। मेरे जीते जी ये सपना पूरा हो जाएगा। इसे पूरा करने से पहले मरने वाला नहीं। चाइना ने 32 साल लिए हम इससे कम समय लेंगे। पूरे देश के खिलाड़ियों के लिए यह मक्का मदीना होगा। देशभर के युवा यहां आएंगे। मैं इस बिल का समर्थन करता हूं। दिल्ली सरकार ने यह खेल यूनिवर्सिटी मुंडका में बनाने का निर्णय लिया है। उक्त बाते दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कही

खेल विश्‍वविद्यालय 2019 बिल पास

दिल्ली सरकार ने खेल विश्‍वविद्यालय 2019 बिल आज सदन में पेश किया जो सर्वसम्मति से पास हो गया। दो दिवसीय दिल्‍ली विधानसभा सत्र की सोमवार से शुरुआत हुई। सत्र के पहले ही दिन दिल्‍ली की आम आदमी पार्टी की सरकार ने खेल क्षेत्र से जुड़े लोगों को बड़ी खुशखबरी दी है। दिल्‍ली के डिप्‍टी सीएम मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया ने खेल विश्‍वविद्यालय 2019 बिल पेश किया। इसे कुछ देर बाद सदन ने पास कर दिया है।

90 एकड़ जमीन पर बनेगा खेल विश्वविद्यालय

इस मौके पर विधानसभा में सीएम केजरीवाल ने कहा कि चाइना को एक साल 70 मेडल मिले। हमारे देश को अबतक 28 मेडल मिले। क्या हमारे युवाओं में कमी है? कमी सरकारी व्यवस्था में रह जाती है। यह बिल कोई कागज़ के टुकड़ा नहीं है। ये युवाओं का सपना है।  90 एकड़ जमीन पर खेल विश्वविद्यालय स्थापित किया जा सकता है।

यह देश में पहली बार खेलों की डिग्री देगा। खिलाड़ी अपनी प्रतिभा के आधार पर क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल आदि में स्नातक, स्नातकोत्तर व पीएचडी तक की डिग्री ले सकेंगे। कुछ दिनों पहले उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट में बताया था कि अब छात्रों का खेल ही उनकी पढ़ाई होगा।

Loading...
loading...

You may also like

नागरिकता कानून : हिंसा स्वीकार नहीं, प्रदर्शन शांतिपूर्ण होना चाहिए : केजरीवाल

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। नागरिकता