#MeToo: महिला ने दो पादरियों पर 7 साल तक यौन शोषण करने के लगाए आरोप

#MeToo#MeToo

नई दिल्ली। #MeToo अभियान के तहत 40 वर्षीया महिला ने मेघालय में कैथोलिक चर्च के दो पादरियों पर वर्षो पहले यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। उक्त महिला ने शुक्रवार को फेसबुक के जरिये अपनी आपबीती पोस्ट की।

ये भी पढे : भाजपा के वरिष्ठ सांसद भोला सिंह का निधन, पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि 

इस पोस्ट में महिला ने क्रिश्चियन ब्रदर्स के फ्रांसिस गेल और डॉन बॉस्को ग्रुप के मस्कट पर आरोप लगाया है। वह तीन बार आत्महत्या का प्रयास भी कर चुकी हैं, लेकिन काउंसलिंग के बाद वह तीन साल पहले इस प्रवृत्ति से छुटकारा पा चुकी हैं।

साथ ही उन्होंने बताया कि जब वह पांच साल की थीं तब फ्रांसिस गेल ने उनका यौन शोषण करना शुरू कर दिया था। उन्होंने जब अपने परिजनों को इस बारे में बताया तो परिजनों ने उनकी ही पिटाई कर दी। 12 साल की उम्र तक यह सिलसिला चलता रहा। उसके बाद उन्होंने साहस करके और गर्भवती होने के डर से फ्रांसिस गेल से मिलना बंद कर दिया। फ्रांसिस अब पश्चिम बंगाल में रहते हैं।

ये भी पढे: एनडी तिवारी के निधन पर 3 दिन का राजकीय शोक, बंद रहेंगे सभी सरकारी कार्यालय 

पादरी मस्कट के बारे में महिला ने लिखा है कि मिठाइयां और टॉफियां देने के बहाने से वह उन्हें अपनी बड़ी डेस्क के पीछे बुला लेते थे और उसके बाद यौन दु‌र्व्यवहार करता था। इसके बारे में वह इसलिए कुछ नहीं बोल पाईं, क्योंकि उसी दौरान वह फ्रांसिस गेल से उससे बड़ा यौन शोषण झेल रही थीं। अभी इन आरोपों पर प्रमुख पादरी की प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है।

loading...
Loading...

You may also like

अल्पसंख्यकों का उत्पीडऩ किसी भी सूरत में नहीं किया जाएगा बर्दाश्त- शिवपाल

लखनऊ। समाजवादी पार्टी से अलग होकर प्रगतिशील सपा