महिला आयोग का आजम खान को नोटिस, थाने में केस दर्ज

महिला आयोग का नोटिस, थाने में केस दर्जमहिला आयोग का नोटिस, थाने में केस दर्ज

उत्तर प्रदेश। समाजवादी पार्टी नेता आजम खान की रामपुर से भाजपा प्रत्याशी जयाप्रदा पर की गई विवादित टिप्पणी पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है। आजम खान के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी पर अब केस दर्ज हो गया है। वहीं महिला आयोग भी आजम खान को नोटिस भेज दिया है। आजम खान की टिप्पणी से आहत जया प्रदा का भी बयान आया है।

आजम खान की सफाई
सोमवार सुबह आजम खान ने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा कि उनकी बात को गलत तरीके से पेश किया गया है। उन्होंने कहा कि बयान में किसी का नाम नहीं लिया गया, अगर वह दोषी साबित होंगे तो चुनाव नहीं लड़ेंगे। आजम खान ने कहा कि मैं रामपुर से नौ बार विधायक रहा हूं, इतना मुझे पता है क्या कहना है, अगर कोई यह साबित कर दे कि मैंने किसी नाम लिया और उसपर टिप्पणी की, तो मैं चुनाव से हाथ पीछे कर लूंगा।

आजम खान के खिलाफ केस दर्ज
इसके बाद जया प्रदा को लेकर की गई अमर्यादित टिप्पणी पर आजम खान के खिलाफ रामपुर के शाहबाद थाने में केस दर्ज किया गया। क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट ने उनके खिलाफ थाने में तहरीर दी और मुकदमा दर्ज कराया।  IPC की धारा 509 और लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 125 में केस दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें:-सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान, हैं विवादित बयानों के शहंशाह 

महिला आयोग ने भेजा नोटिस

इसके बाद आजम खान की टिप्पणी पर राष्ट्रीय महिला आयोग भी संज्ञान लिया है। महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि वह हमेशा महिलाओं के बारे में गंदी बात करते हैं, इस चुनाव में यह दूसरी टिप्पणी है, जो उन्होंने की, राष्ट्रीय महिला आयोग उन्हें नोटिस भेज रहा है।

रेखा शर्मा ने कहा कि हम चुनाव आयोग को उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए भी लिख रहे हैं, क्योंकि उन्हें सबक सीखना होगा। मुझे लगता है, महिला मतदाताओं को इस तरह के लोगों के खिलाफ मतदान करना चाहिए जो इस तरह से महिलाओं के खिलाफ बयान देते हैं।

यह भी पढ़ें:-पूर्व राज्यपाल कुरैशी का पुलवामा हमले पर आपत्तिजनक बयान, मोदी पर लगाया आरोप

जया प्रदा का आजम पर पलटवार
इसके तुरंत बाद आजम खान की टिप्पणी पर जया प्रदा का बयान आया है। उन्होंने कहा कि यह मेरे लिए कोई नई बात नहीं है। जया प्रदा ने कहा कि आजम ने हद पार कर दी है। मेरा चरित्र हनन किया जा रहा है। हमारी रक्षा कौन करेगा।

जयाप्रदा ने कहा कि उन्हें चुनाव लड़ने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। अगर वह जीत गए, तो लोकतंत्र का क्या होगा? समाज में महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं होगी। हम कहां जाएंगे? क्या मुझे मर जाना चाहिए, तब आप संतुष्ट होंगे? आप सोचते हैं कि मैं डर जाऊंगी और रामपुर छोड़ दूंगी? लेकिन मैं नहीं छोड़ूंगी। आजम खान को हराकर छोड़ूंगी। आजम खान आदत से मजबूर हैं। वो सुधर नहीं सकते हैं।

आजम का बयान निंदनीय, करवाई करें चुनाव आयोग और अखिलेश: कांग्रेस

कांग्रेस ने आजम खान की आपत्तिजनक टिप्पणी की निंदा करते हुए सोमवार को कहा इस पर चुनाव आयोग और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को आजम के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट कर कहा, “जया प्रदा पर आजम खान की टिप्पणी का स्तर भद्दा और तुच्छ है। ऐसे बयान एक जीवंत लोकतंत्र के लिए अपमानजनक है।” उन्होंने कहा, ‘आशा करता हूं कि चुनाव आयोग और अखिलेश यादव इसका संज्ञान लेंगे तथा कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे।’ सिंघवी ने कहा, ‘निश्चित तौर पर आज़म खान का बयान निंदनीय है। राजनीति में उन लोगों के लिए कोई जगह नहीं है जो विरोधियों की आलोचना करते हुए मर्यादित विमर्श बरकरार नहीं रख सकते हैं।’

यह भी पढ़ें:-मेनका गांधी का विवादित बयान , ‘जिसका जितना वोट, उसका उतना विकास

भीष्म पितामह! आपके सामने द्रोपदीका चीरहरण हो रहा है
सोमवार की सुबह सुषमा स्वराज ने अपने ट्विटर एकाउंट से ट्वीट कर समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह के मौन पर टिप्पणी की है। उन्हें पार्टी का भीष्म पितामह संबोधित करते हुए लिखा है कि मुलायम भाई, आप समाजवादी पार्टी के पितामह हैं। आपके सामने रामपुर में द्रौपदी का चीर हरण हो रहा हैं। आप भीष्म की तरह मौन साधने की गलती मत करिए।

Loading...
loading...

You may also like

यौन शोषण के मामलों की तत्काल जांच  करेगी ‘बलात्कार जांच किट्स

🔊 Listen This News नयी दिल्ली| गृह मंत्रालय