बीएस येदियुरप्पा का भाग्य अब राज्यपाल के पत्र पर टिका, SC ने मांगी विधायकों की सूची

बीएस येदियुरप्पा
Please Share This News To Other Peoples....

नई दिल्ली। बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा ने गुरूवार को कर्नाटक में तीसरी बार मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाल ली है, लेकिन अभी भी उनके सफर को लेकर संशय के बादल छटने का नाम नहीं ले रहे हैं। देर रात भले ही कांग्रेस को राहत नहीं मिली, लेकिन इस मामले अगली सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को 10.30 बजे होगी।

बीएस येदियुरप्पा ने  राज्यपाल को दिए पत्र में 104 से अधिक संख्या का उल्लेख नहीं

सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश एके सीकरी के नेतृत्व में पीठ ने उस पत्र को पेश करने को कहा, जिसे येदियुरप्पा ने बुधवार को राज्यपाल को लिखते हुए उन्हें सूचित किया था कि कर्नाटक में भाजपा के विधायक दल के नेता के रूप में बीएस येदियुरप्पा का चुनाव किया गया है। बीएस येदियुरप्पा  के राज्यपाल को दिए पत्र से उनका भाग्य निर्धारित होगा। भाजपा ने 104 से अधिक संख्या का उल्लेख नहीं किया है। राज्यपाल के न्योते में किसी संख्या का उल्लेख नहीं किया गया है।

ये भी पढ़ें :-छत्तीसगढ़: राहुल का शाह पर हमला, कहा- हत्या का आरोपी राष्ट्रीय पार्टी का है अध्यक्ष 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता बीएस येदियुरप्पा के कर्नाटक के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने को संविधान का मजाक उड़ाने के समान करार दिया।

राहुल ने ट्वीट कर कहा कि भाजपा का यह तर्कहीन आग्रह कि वह कर्नाटक में सरकार बनाएगी, जबकि उनके पास पूर्ण संख्या नहीं है। यह हमारे संविधान का मजाक उड़ाने के समान है। उन्होंने कहा कि इस सुबह जब भाजपा अपनी खोखली जीत का जश्न मना रही है, भारत लोकतंत्र की हार का शोक मनाएगा।

कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी.चिदंबरम ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि बीएस येदियुरप्पा के राज्यपाल को दिए पत्र से उनका भाग्य निर्धारित होगा। उन्होंने कहा कि येदियुरप्पा के राज्यपाल को दिए पत्र से उनका भाग्य निर्धारित होगा। भाजपा ने 104 से अधिक संख्या का उल्लेख नहीं किया है। राज्यपाल के न्योते में किसी संख्या का उल्लेख नहीं किया गया है।

उन्होंने कहा कि मैं सर्वोच्च न्यायालय को सलाम करता हूं। यदि मैं येदियुरप्पा होता तो मैं शुक्रवार को मामले की 10.30 बजे होने वाली सुनवाई तक शपथ नहीं लेता।

बतातें चलें कि सर्वोच्च न्यायालय से हरी झंडी मिलने के बाद राज्यपाल वजुभाई वाला ने गुरुवार को कड़ी सुरक्षा एवं व्यवस्था के बीच सुबह नौ बजे राजभवन में येदियुरप्पा को शपथ दिलाई।  येदियुरप्पा (75) ने भाजपा के केंद्रीय और राज्य के नेताओं और नवनिर्वाचित विधायकों के बीच कन्नड़ भाषा में शपथ ली। इससे पहले सर्वोच्च न्यायालय की तीन सदस्यीय पीठ ने येदियुरप्पा के शपथ ग्रहण पर रोक लगाने संबंधी कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) की संयुक्त रिट याचिका खारिज कर दी थी ।

Related posts:

तेजस्वी का नीतीश पर हमला, बोले-शराब काण्ड के दोषी के साथ बेडरूम में सेल्फी लेते हैं छवि कुमार
कांग्रेस खुद इस बात को सोचे कि देश क्यों उसको चुन-चुनकर सजा देना चाहता है: पीएम मोदी
अटल बिहारी को पीएम मोदी और बीजेपी के नेताओं ने बधाई
योगी सरकार को अपना फैसला लेना पड़ा वापस, फिर बदला हज समिति का रंग
गूगल पर हेराफेरी के आरोप में 136 करोड़ रुपये का जुर्माना
अॅाल इण्डिया जमीअतुल मंसूर की सरपरस्ती में बनेगा मंसूरी हाउस...
लखनऊ : कांशीराम की जयंती पर नारों से गुंजा कांशीराम स्मारक...
गठबंधन से बीजेपी को होगा भारी नुक्सान, जानिए ज्यादा फायदा किसे..बुआ या बबुआ को
दुग्ध विकास विभाग सहित कई योजना का लक्ष्य पूरा
लोकसभा चुनाव: मोदी के मंत्री ने मायावती से गठबंधन के लिए बढ़ाया हाथ
बिहार : दोस्तों के साथ शराब पी रहा था बीजेपी सांसद का बेटा, पुलिस ने किया गिरफ्तार
...या तो यह LG मूर्ख है या फिर धूर्त : संजय सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *