बीएस येदियुरप्पा का भाग्य अब राज्यपाल के पत्र पर टिका, SC ने मांगी विधायकों की सूची

बीएस येदियुरप्पा
Please Share This News To Other Peoples....

नई दिल्ली। बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा ने गुरूवार को कर्नाटक में तीसरी बार मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाल ली है, लेकिन अभी भी उनके सफर को लेकर संशय के बादल छटने का नाम नहीं ले रहे हैं। देर रात भले ही कांग्रेस को राहत नहीं मिली, लेकिन इस मामले अगली सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को 10.30 बजे होगी।

बीएस येदियुरप्पा ने  राज्यपाल को दिए पत्र में 104 से अधिक संख्या का उल्लेख नहीं

सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश एके सीकरी के नेतृत्व में पीठ ने उस पत्र को पेश करने को कहा, जिसे येदियुरप्पा ने बुधवार को राज्यपाल को लिखते हुए उन्हें सूचित किया था कि कर्नाटक में भाजपा के विधायक दल के नेता के रूप में बीएस येदियुरप्पा का चुनाव किया गया है। बीएस येदियुरप्पा  के राज्यपाल को दिए पत्र से उनका भाग्य निर्धारित होगा। भाजपा ने 104 से अधिक संख्या का उल्लेख नहीं किया है। राज्यपाल के न्योते में किसी संख्या का उल्लेख नहीं किया गया है।

ये भी पढ़ें :-छत्तीसगढ़: राहुल का शाह पर हमला, कहा- हत्या का आरोपी राष्ट्रीय पार्टी का है अध्यक्ष 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता बीएस येदियुरप्पा के कर्नाटक के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने को संविधान का मजाक उड़ाने के समान करार दिया।

राहुल ने ट्वीट कर कहा कि भाजपा का यह तर्कहीन आग्रह कि वह कर्नाटक में सरकार बनाएगी, जबकि उनके पास पूर्ण संख्या नहीं है। यह हमारे संविधान का मजाक उड़ाने के समान है। उन्होंने कहा कि इस सुबह जब भाजपा अपनी खोखली जीत का जश्न मना रही है, भारत लोकतंत्र की हार का शोक मनाएगा।

कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी.चिदंबरम ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि बीएस येदियुरप्पा के राज्यपाल को दिए पत्र से उनका भाग्य निर्धारित होगा। उन्होंने कहा कि येदियुरप्पा के राज्यपाल को दिए पत्र से उनका भाग्य निर्धारित होगा। भाजपा ने 104 से अधिक संख्या का उल्लेख नहीं किया है। राज्यपाल के न्योते में किसी संख्या का उल्लेख नहीं किया गया है।

उन्होंने कहा कि मैं सर्वोच्च न्यायालय को सलाम करता हूं। यदि मैं येदियुरप्पा होता तो मैं शुक्रवार को मामले की 10.30 बजे होने वाली सुनवाई तक शपथ नहीं लेता।

बतातें चलें कि सर्वोच्च न्यायालय से हरी झंडी मिलने के बाद राज्यपाल वजुभाई वाला ने गुरुवार को कड़ी सुरक्षा एवं व्यवस्था के बीच सुबह नौ बजे राजभवन में येदियुरप्पा को शपथ दिलाई।  येदियुरप्पा (75) ने भाजपा के केंद्रीय और राज्य के नेताओं और नवनिर्वाचित विधायकों के बीच कन्नड़ भाषा में शपथ ली। इससे पहले सर्वोच्च न्यायालय की तीन सदस्यीय पीठ ने येदियुरप्पा के शपथ ग्रहण पर रोक लगाने संबंधी कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) की संयुक्त रिट याचिका खारिज कर दी थी ।

Related posts:

सरदार पटेल के नाम पर इकट्ठा लोहा कहां गया : अखिलेश यादव
योगी की मंशा पर भारी बेसिक शिक्षा विभाग, वेबसाइट पर आज भी डायरेक्टर हैं डीबी शर्मा
डकैतों का मलीहाबाद में तांडव, युवक की हत्या, महिलाओं को भी बेरहमी से पीटा, देखें फोटो...
एमिटी के तीन दिवसीय वार्षिकोत्सव ‘एमिफोरिया-2018’
अभिनेता जितेन्द्र पर उनकी बहन ने लगाया यौन शोषण का आरोप, एफआईआर दर्ज
श्रीनगर : सीआरपीएफ कैंप पर हमले की कोशिश करने वाले आतंकियों को जवानो ने घेरा
राजीव गांधी हत्याकांड केस अब दोबारा नहीं खोला जाएगा: CBI
आईपीएस अमिताभ ठाकुर पर संगीन आरोप, महिला ने लगाई आरोपों की झड़ी  
यूपी बोर्ड: हाईस्कूल व इंटरमीडिएट का रिजल्ट 29 अप्रैल को
राहुल बोले मेरा चैलेंज स्वीकारें मोदी घटाएं पेट्रोल-डीजल के दाम
यूपी में कांग्रेस को गठबंधन से दूर रखना चाहती है सपा-बसपा
उन्नाव में तीन युवकों ने महिला से की छेड़छाड़, चौथे ने बनाई वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *