सदन में जब शायराना अंदाज़ में विपक्ष पर हमलावर हुए योगी, पढ़ें मुख्यमंत्री की कविता…

24ghanteonline
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ आज विधान सभा में शायराना अंदाज़ में नज़र आए। उन्होंने विपक्ष को अपने द्वारा प्रस्तुत की गई कविता के ज़रिये घेरा। इस दौराना नेता प्रतिपक्ष राम गोविन्द चौधरी के साथ उनकी नोक-झोंक भी हुई।

यह भी पढ़ें : शिवपाल ने दिया अखिलेश को आशीर्वाद, कहा, मिलकर जीतेंगे चुनाव…देखें फ़ोटोज़…

हम तो प्रदेश की तस्‍वीर सुधारने में लगे हैं…

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सदन में नेता प्रतिपक्ष को संबोधित करते हुए कहा कि “हम तो प्रदेश की तस्‍वीर सुधारने में लगे हैं, आप लोग हैं कि आग लगाने में लगे हैं, मजहब किसी को इसकी इजाजत नहीं देता, हम हैं इस आग को बुझाने में लगे हैं। उनकी इस कविता पर राम गोविन्द चौधरी ने कहा  कि यह अच्छा है अब आग लगाने वाले आग बुझाने की बात कर रहे हैं।

योगी ने दोबारा पलवार करते हुए कहा कि राम गोविन्द जी तो अपने क्षेत्र बलिया में नहीं जाते, इनके यहाँ ग़रीबों की झोपडियां जल गईं, मैंने अफसरों से बात की, नेता जी के ज़रिये वहाँ के लोगों की मदद करवा दीजिये तो मुझे जवाब मिला, नेता जी यहाँ सिर्फ चुनाव के समय में आते हैं।

यह भी पढ़ें : हिस्ट्रीशीटर ने ज़मीनी विवाद के चलते महिला को मारी गोली, ट्रामा में भरती…

चिराग जिसे आंधियों ने पाला है, उसे हवा नहीं बुझा सकती है…

अपने भाषण के अंत में भी मुख्यमंत्री ने शेर सुनाया, चिराग जिसे आंधियों ने पाला है, उसे हवा नहीं बुझा सकती है। इस शेर के ज़रिये  सीएम ने  भाषण अ समापन किया।

 

Related posts:

मोदी के खिलाफ कांग्रेस का ब्रम्हास्त्र, राहुल खेलेंगे डोनाल्ड का ट्रंप-कार्ड
लखनऊ में धारा 144 लागू
हर हाल में बनेगा मंदिर, आन्दोलन और संघर्ष के लिए भी हैं तैयार: विनय कटियार
यूपी में दोनों वक्फ बोर्डों का होगा विलय, योगी सरकार के फैसले पर शिया बोर्ड ने जताया ऐतराज
दिल्ली में स्मॉग के हालात को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुलाई बैठक, अस्पतालों को एडवाइजरी जारी
राहुल के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने पर जताया हर्ष
लखनऊ : काकोरी में डकैतों के तमंचे से बच्चा घायल...
स्कूली बस पर सिरफिरे ने चलाए पत्थर, कई बच्चे ज़ख़्मी...
एमिटी डिजाइनर्स अवार्डस् में बिखरे फैशन के रंग
अछल्दा रेलवे स्टेशन पर अब मुरी व संगम एक्सप्रेस का होगा ठहराव
होमगार्ड विभाग की बड़ी चूक, आईजी की वर्दी और रैंक आफ बैजेज का नहीं हो पाया निर्धारण
क्लैट के नतीजे 31 को ही किए जाएंगे घोषित: सुप्रीम कोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *