यूपी : फर्जी शिक्षकों पर गिरेगी गाज, सीएम योगी ने सभी जिलों से मांगी रिपोर्ट

फर्जी शिक्षकों

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सरकारी प्राइमरी स्कूलों में नकली दस्तावेज के माध्यम से नौकरी पाने वाले फर्जी शिक्षकों पर गाज गिराने वाली है। इसे लेकर उत्तर प्रदेश प्रशासन ने अब कड़ा रुख अपनाया है। फर्जी शिक्षकों के मामले में ढिलाई बरतने पर शासन ने हाईकोर्ट से फटकार भी खायी थी। सीएम योगी ने विभिन्न जिले के डीएम पर भी नाराजगी जाहिर की है। साथ ही उनसे इस मामले की पूरी रिपोर्ट मांगी है। दरअसल मथुरा में एसटीएफ की टीम ने जुलाई में करीब 150 फर्जी शिक्षकों को नकली दस्तावेज से नौकरी करते पकड़ा था। इसके बाद प्रदेश के अन्य जिलों में भी इसी तरह फर्जी शिक्षकों की सूचनाएं आने लगीं थी।

फर्जी शिक्षकों की जांच में बनायी गयी थी विशेष टीम

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा डॉक्टर प्रभात कुमार ने 19 और 20 जुलाई को सभी जिले के डीएम को आदेश दिए थे। सभी डीएम को कहा गया था कि वह अपने निर्देशन में जांच समिति से ऐसे मामलों की जांच कराकर फर्जी शिक्षकों को चिन्हित कर कार्रवाई करते हुए शासन को अवगत कराएं। लेकिन जिलाधिकारियों ने मामले में लापरवाही बरती। अब एक बार फिर से अपर मुख्य सचिव ने सभी डीएम को पत्र भेजकर ऐसे शिक्षकों की सूचना मांगी हैं। विभागीय सूत्रों की मानें तो शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई बेसिक शिक्षा विभाग की बैठक में भी यह मुद्दा उठा। उसमें सीएम ने साफ कहा कि कोई भी फर्जी शिक्षक बचना नहीं चाहिए।

ये भी पढ़ें : बेंगलुरु में एचएएल के कर्मचारियों से मिले राहुल गांधी, कहा- देश पर है आपका कर्ज 

सीएम योगी ने फर्जीवाड़ा करने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए। इस मामले में अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा डॉक्टर प्रभात कुमार ने सभी बीएसए को भी पत्र भेजा है। इसमें सभी बीएसए को निर्देश दिए गए हैं कि वह ऐसे शिक्षकों का ब्यौरा एसटीएफ और शासन को दें, जिन्होंने हाईस्कूल, इंटर, स्नातक, बीएड, बीटीसी आदि के प्रमाण पत्र की दूसरी प्रति लगाकर नौकरी हासिल की है। उन शिक्षकों का ब्यौरा देने के लिए भी कहा गया है जिन्होंने वित्त और लेखाधिकारी के यहां अपना पैन नंबर बदलवाया है। ऐसे शिक्षकों की सूची बनाकर 1 हफ्ते में देने के लिए कहा गया है।

Loading...
loading...

You may also like

Lok Sabha Election 2019 Result : तीन राज्यों की जीत को भुनाने में काँग्रेस नाकाम

🔊 Listen This News नई दिल्ली। दिसंबर 2018