युवा दिवस के रूप में मनाई गई स्वामी विवेकानन्द जयन्ती

सिद्धार्थनगर। पढ़ने के लिए जरूरी है एकाग्रता, एकाग्रता के लिए जरूरी है ध्यान। ध्यान से ही हम इन्द्रियों पर संयम रखकर एकाग्रता प्राप्त कर सकते है। उक्त बाते भाजपा जिला मंत्री ओम प्रकाश यादव ने स्वामी विवेकानन्द स्कूल सहिजनवा बर्डपुर में आयोजित स्वामी विवेकानन्द जयन्ती के अवसर पर युवा दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि कही। उन्होंने कहा कि इंद्रियों पर जो नियंत्रण रखता है। वो सदैव आगे बढ़ता जाता है। उन्होंने कहा कि
स्वामी विवेकानन्द ने अपने विचारों से ना सिर्फ भारत का नाम रौशन किया बल्कि दुनिया में भी देश का मान बढ़ाया था। इस अवसर पर कार्यक्रम संयोजक विश्वम्भर नाथ पाण्डेय ने कहा कि अमेरिका के शिकागो शहर में दिया गया स्वामी विवेकानन्द जी का ओजपूर्ण भाषण आज भी काफी लोकप्रिय है। सन 1893 में उन्होंने शिकागो में आयोजित विश्व धर्म सम्मेलन में दुनिया को हिंदुत्व और आध्यात्म का पाठ पढ़ाया था। यहां उन्होंने भारतीय संस्कृति और भारतीय ज्ञान से दुनिया को रुबरू करवाया था। इस अवसर पर प्रधानाचार्य मनीष चौधरी ने कहा कि स्‍वामी विवेकानंद ऐसे महापुरुष हैं जिनके विचार आज भी लोगों को प्रेरणा देते हैं। स्वामी विवेकानंद ने मानवता की सेवा और परोपकार के लिए 1897 में रामकृष्ण मिशन की स्थापना की। इस मिशन का नाम विवेकानंद ने अपने गुरु रामकृष्ण परमहंस के नाम पर रखा था। 4 जुलाई 1902 को स्वामी विवेकानंद का निधन हो गया, लेकिन उनके विचार आज भी उन्हें लोगों के बीच जीवित रखे हुए हैं। कार्यक्रम की शुरुवात मुख्य अतिथि द्वारा द्वीप प्रज्वलन कर किया गया। ततपश्चात स्वामी विवेकानन्द के चित्र पर माल्यार्पण किया गया और मुख्य अतिथि का भी माल्यार्पण कर विद्यालय परिवार ने स्वागत किया। इस दौरान स्कूल द्वारा रंगोली प्रतियोगिता कराई गई जिसमें सृष्टि चौधरी ने प्रथम, आरती गुप्ता ने द्वितीय व अदिति मिश्रा की टीम ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। सभी को मुख्य अतिथि द्वारा पुरस्कृत कर बच्चों का उत्साहवर्धन किया गया। इससे पूर्व आयोजक समिति द्वारा जिला मुख्यालय पर पहुँचकर जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला बेशिक शिक्षा अधिकारी व एसएसबी के प्रभारी कमांडेंट को उनके कार्यालयों में जाकर पुस्तक एवं चित्र भेंट किया। इस अवसर पर शैलेश कुमार शुक्ल, शिक्षक राममिलन गुप्ता, शशिधर मिश्र, अबूबकर, अमित जायसवाल सन्दीप चौधरी, आनन्द श्रीवस्तव, अजय चौधरी, दिलीप चौधरी, दीपक चौधरी, जावेद त्रिपुरारी, ज्योति गुप्ता, रीता चौधरी, आकांछा चौधरी, दिव्यांशी जायसवाल, माधुरी चौधरी, सरिता सहित विद्यालय के समस्त शिक्षक कर्मचारी व छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

Loading...
loading...

You may also like

कर्मयोगी और अनन्य राष्ट्रभक्त थे मनोहर पर्रिकर: डॉक्टर चन्द्रेश

🔊 Listen This News सिद्धार्थनगर। महान कर्मयोगी और